क्या आपको विप्रो स्टॉक खरीदना चाहिएक्या आपको विप्रो स्टॉक्स खरीदना चाहिए: विप्रो ने 6 अप्रैल के कारोबार में 9 फीसदी की बढ़त के साथ 472 रुपये का कारोबार किया, जो शेयर के लिए एक रिकॉर्ड ऊंचाई है।

विप्रो स्टॉक आउटलुक: आईटी कंपनी विप्रो के शेयर में नतीजों के बाद शानदार उछाल है। अप्रैल 16 के कारोबार में विप्रो 9 प्रतिशत बढ़कर 472 रुपये हो गया, जो शेयर के लिए एक रिकॉर्ड ऊंचाई है। शेयर गुरुवार को 430.70 रुपये पर बंद हुआ। चौथी तिमाही विप्रो के लिए मजबूत रही है। इस अवधि के दौरान, कंपनी के आईटी कारोबार में अच्छी वृद्धि देखी गई है। इस अवधि के दौरान, कंपनी को बहुत बड़े सौदे मिले हैं और ऑपरेटिंग मार्जिन में भी सुधार हुआ है। हालांकि, वेतन में बढ़ोतरी ने मार्जिन को प्रभावित किया है। तिमाही नतीजों के बाद से, ब्रोकरेज हाउस ने भी स्टॉक में निवेश करने पर अपनी राय दी है।

राजस्व वृद्धि अनुमान से बेहतर है

चौथी तिमाही में सीसी तिमाही में आईटी सेवाओं में विप्रो की राजस्व वृद्धि तिमाही आधार पर 3 प्रतिशत थी। हालांकि, वेतन वृद्धि के कारण ईबिट मार्जिन 70 बीपी घटकर 21 फीसदी पर आ गया है। लेकिन अन्य कलाकारों के नियंत्रण के कारण, यह भी उम्मीद से बेहतर है। कंपनी ने चौथी तिमाही में 12 बड़े सौदे जीते हैं। वार्षिक आधार पर 2HFY21 में कंपनी की ऑर्डर बुक 33 प्रतिशत बढ़कर 710 मिलियन डॉलर हो गई है।

2,972 करोड़ का लाभ

आईटी कंपनी विप्रो का समेकित शुद्ध लाभ 31 मार्च 2021 को समाप्त चौथी तिमाही में सलाला आधार पर 27.7 प्रतिशत बढ़कर 2,972 करोड़ रुपये हो गया। एक साल पहले इसी अवधि में विप्रो को 2,326.1 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ था। तिमाही के दौरान कंपनी का राजस्व 3.4 प्रतिशत बढ़कर 16,245.4 करोड़ रुपये हो गया। पूरे वित्त वर्ष के लिए कंपनी का समेकित शुद्ध लाभ 11 प्रतिशत बढ़कर 10,796.4 करोड़ रुपये हो गया। 2020-21 में विप्रो का वार्षिक राजस्व 1.5 प्रतिशत बढ़कर 61,943 करोड़ रुपये हो गया।

READ  Macrotech Developers IPO: FY22 के लिए पहला IPO 483-486 रुपये का प्राइस बैंड है; निवेश करने से पहले सब कुछ जान लें

ऑपरेटिंग मोर्चे पर देखें तो मार्च तिमाही में कंपनी का EBIT 3417 करोड़ रुपये रहा है। वहीं, EBIT मार्जिन 20.92 फीसदी रहा। CAPCO को चौथी तिमाही में ही हासिल कर लिया गया था, जो कंपनी द्वारा किया गया अब तक का सबसे बड़ा अधिग्रहण है। अधिग्रहण से वैश्विक वित्तीय सेवा क्षेत्र में कंपनी की पैठ बढ़ेगी।

राजस्व वृद्धि मार्गदर्शन से निराशा!

ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल ओसवाल के अनुसार, 1QFY22 के लिए विप्रो का राजस्व विकास मार्गदर्शन एक मजबूत ऑर्डरबुक और एक बड़ी डील जीतने के बाद भी निराशाजनक है। विप्रो ने 1QFY22 के लिए तिमाही आधार पर 2-4 प्रतिशत का राजस्व विकास मार्गदर्शन बनाए रखा है। ब्रोकरेज हाउस का कहना है कि विप्रो पिछले कुछ सालों में टियर 1 कंपनियों में अंडरपरफॉर्मर रहा है। हेल्थकेयर और ईएनयू जैसे चाकिंग वर्टिकल में उच्च जोखिम के कारण ऐसा हुआ है। हालांकि, प्रबंधन की वृद्धि रणनीति से मध्य से दीर्घावधि में लाभ होगा। लेकिन जब यह निकट अवधि के लिए आता है, तो पुनर्गठन और निवेश के कारण मार्जिन पर दबाव हो सकता है।

निवेश पर आपकी क्या राय है

ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल ओसवाल ने स्टॉक में न्यूट्रल रेटिंग देते हुए 455 रुपए का लक्ष्य रखा है। वहीं, ब्रोकरेज हाउस डोलाट कैपिटल ने शेयरों को कम करने की सिफारिश करते हुए लक्ष्य को घटाकर 430 रुपये कर दिया है। ब्रोकरेज हाउस सीआईटीआई ने विप्रो में खरीद की सिफारिश करते हुए लक्ष्य 510 रुपये तय किया है।

यूबीएस ने भी विप्रो पर एक तटस्थ रेटिंग दी है और स्टॉक के लिए 470 रुपये का लक्ष्य रखा है। जबकि ब्रोकरेज हाउस सीएलएसए ने विप्रो पर एक अंडरपरफॉर्म रेटिंग दी है और लक्ष्य 450 रुपये निर्धारित किया है। अंडरपरफॉर्म रेटिंग देते समय जेफरीज ने लक्ष्य 380 रुपये निर्धारित किया है।

READ  स्टॉक मार्केट लाइव न्यूज़: कोविद -19, सेंसेक्स और निफ्टी द्वारा लाल निशान में रखे गए निवेशक; बैंक शेयरों में बेच

(नोट: हमने कंपनी के तिमाही परिणामों और ब्रोकरेज हाउस रिपोर्ट के आधार पर यहां जानकारी दी है। बाजार के जोखिम को देखते हुए, निवेश करने से पहले विशेषज्ञों की राय लें।)

प्राप्त व्यापार समाचार हिंदी में, नवीनतम इंडिया न्यूज हिंदी में, और शेयर बाजार, निवेश योजना और फाइनेंशियल एक्सप्रेस हिंदी पर बहुत कुछ अन्य ब्रेकिंग न्यूज। हुमे पसंद कीजिए फेसबुक, पर हमें का पालन करें ट्विटर नवीनतम वित्तीय समाचार और शेयर बाजार अपडेट के लिए।