Tega Industries ने सेबी के पास 700-750 करोड़ रुपये के IPO फाइल ड्राफ्ट दस्तावेज की योजना बनाई हैTega Industries, जो वैश्विक खनिज कंपनियों को स्क्रीनिंग, खनन और सामग्री प्रबंधन जैसी सेवाएं प्रदान करती है, ने 1978 में विदेशी कंपनी Skaga AB स्वीडन के साथ मिलकर अपना व्यवसाय शुरू किया।

तेगा इंडस्ट्रीज आईपीओ: वैश्विक स्तर पर खनिज खनन कंपनियों को सेवाएं प्रदान करने वाली टेगा इंडस्ट्रीज का आईपीओ आने वाला है। टेगा इंडस्ट्रीज ने बाजार नियामक सेबी के साथ प्रारंभिक सार्वजनिक पेशकश (आईपीओ) के लिए ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस (डीआरएचपी) दायर किया है। बाजार सूत्रों के मुताबिक यह आईपीओ 700-750 करोड़ रुपये का हो सकता है। इस आईपीओ के तहत कोई नया शेयर जारी नहीं किया जाएगा। जानकारी के मुताबिक यह आईपीओ ऑफर फॉर सेल (ओएफएस) होगा। इश्यू के तहत कंपनी के प्रमोटर और शेयरधारक 1.37 करोड़ इक्विटी शेयर बेचेंगे। आईपीओ की सफलता के बाद कोलकाता स्थित कंपनी के शेयर बीएसई और एनएसई पर सूचीबद्ध होंगे।

कोविड का बूस्टर डोज जरूरी नहीं, दुनियाभर में पर्याप्त वैक्सीन लेकिन सही जगह नहीं: डब्ल्यूएचओ

एक्सिस कैपिटल और जेएम फाइनेंशियल नियुक्त मर्चेंट बैंकर

सेबी के पास दाखिल दस्तावेज के मुताबिक, कंपनी के प्रमोटर मदन मोहन मोहनका करीब 33.14 लाख और मनीष मोहनका 6.63 लाख इक्विटी शेयर ऑफर फॉर सेल के जरिए बेचेंगे। इसके अलावा अमेरिका की ग्लोबल प्राइवेट इक्विटी फर्म टीए एसोसिएट्स से संबद्ध कंपनी वैगनर इस कंपनी में अपनी पूरी हिस्सेदारी बेचेगी। वैगनर के पास कंपनी के 96.92 लाख इक्विटी शेयर हैं। वैगनर ने 2011 में टेगा इंडस्ट्रीज में निवेश किया था। एक्सिस कैपिटल और जेएम फाइनेंशियल इस आईपीओ के मर्चेंट बैंकर हैं।

टेगा इंडस्ट्रीज ने 1978 में कारोबार शुरू किया

Tega Industries, जो वैश्विक खनिज कंपनियों को स्क्रीनिंग, खनन और सामग्री प्रबंधन जैसी सेवाएं प्रदान करती है, ने 1978 में विदेशी कंपनी Skaga AB स्वीडन के साथ मिलकर अपना व्यवसाय शुरू किया। कंपनी के उत्पाद पोर्टफोलियो में 55 खनिज प्रसंस्करण और सामग्री हैंडलिंग उत्पाद शामिल हैं और अब दुनिया भर में इसकी छह विनिर्माण सुविधाएं हैं। कंपनी के कारोबार से होने वाले राजस्व की बात करें तो वित्त वर्ष 2020 में इसका राजस्व 684.85 करोड़ रुपये और वित्त वर्ष 2021 में 805.52 करोड़ रुपये था। कंपनी को वित्त वर्ष 2020 में 65.50 करोड़ रुपये का लाभ हुआ और कुल लाभ रु। वित्तीय वर्ष 2021 में 136.40 करोड़।

See also  दुनिया के टॉप 200 में भारत के सिर्फ तीन संस्थान, पहली बार जेएनयू टॉप-1000 में शामिल, फिर बीएचयू-एएमयू बाहर

पाना व्यापार समाचार हिंदी में, नवीनतम भारत समाचार हिंदी में, और शेयर बाजार, निवेश योजना और फाइनेंशियल एक्सप्रेस पर अन्य ब्रेकिंग न्यूज। हुमे पसंद कीजिए फेसबुक, पर हमें का पालन करें ट्विटर नवीनतम वित्तीय समाचार और शेयर बाजार अपडेट के लिए।