एलआईसी आईपीओ: एलआईसी (जीवन बीमा निगम) के मेगा आईपीओ के तहत न केवल सरकारी हिस्सेदारी बेचने के लिए ऑफर फॉर सेल (ओएफएस) लाया जाएगा, बल्कि यह नए इक्विटी शेयर भी जारी कर सकता है। निवेश और लोक संपत्ति प्रबंधन विभाग (दीपम) ने गुरुवार को यह बात कही। इस इश्यू के लिए लीगल बैंकर, लीगल एडवाइजर और बैंकर्स नियुक्त करने का प्रस्ताव देते हुए कहा गया कि एलआईसी को शेयर बाजार में सूचीबद्ध करने की इस प्रक्रिया के तहत न सिर्फ सरकार अपनी हिस्सेदारी बेचने के लिए ऑफर फॉर सेल लाएगी बल्कि नया इक्विटी शेयर भी जुटाएगी। राजधानी। एलआईसी का आईपीओ जनवरी 2022 तक आ सकता है। कहा जा रहा है कि यह देश का सबसे बड़ा आईपीओ होगा। पब्लिक इश्यू 65 से 75 हजार करोड़ रुपये का हो सकता है।

ताजा इक्विटी शेयर जारी करने का चौंकाने वाला कदम

सरकार लंबे समय से एलआईसी का विनिवेश करने की कोशिश कर रही है। लेकिन नए इक्विटी शेयर जारी करने का फैसला चौंकाने वाला कदम है। हालांकि इश्यू साइज कितना बड़ा होगा, यह अभी तय नहीं हुआ है। एचडीएफसी सिक्योरिटीज के रिटेल रिसर्च के प्रमुख दीपक जसानी ने फाइनेंशियल एक्सप्रेस ऑनलाइन को बताया कि एलआईसी अगले दो-तीन वर्षों में बाजार में फिर से प्रवेश नहीं करना चाहती है। इसलिए वह किताब साफ कर राजधानी का पूरा इंतजाम करना चाहती हैं। वह इस विकल्प को अगले दो-तीन साल तक तैयार रखना चाहती हैं। हालांकि अभी यह तय नहीं है कि कंपनी इस विकल्प को अपनाएगी या नहीं। एलआईसी का आईपीओ बाजार में लाने की तैयारी शुरू हो गई है लेकिन यह अभी बहुत शुरुआती चरण में है।

See also  FD: यहां FD करवाएं और समय पर नियमित भुगतान पाएं, वरिष्ठ नागरिकों को ऊंची दरों पर मिलेगा ब्याज

LIC IPO: LIC के IPO को कैबिनेट की मंजूरी, अब वित्त मंत्री की अध्यक्षता में कमेटी तय करेगी इश्यू साइज और कीमत

बड़ी कंपनियों के लिए आईपीओ नियमों में संशोधन

सरकार ने हाल ही में 1 लाख करोड़ रुपये से अधिक के बाजार पूंजीकरण वाली कंपनियों की लिस्टिंग से संबंधित नियमों में संशोधन किया है। इन संशोधनों के मुताबिक ऐसी कंपनियां अब आईपीओ के जरिए अपनी 5 फीसदी हिस्सेदारी बेच सकती हैं। हालांकि, ऐसी कंपनियों को दो साल में अपनी सार्वजनिक हिस्सेदारी बढ़ाकर 10 फीसदी करनी होगी। इस हिस्सेदारी को पांच साल में बढ़ाकर 25 फीसदी करना होगा। सरकार ने आईपीओ लाने के लिए एलआईसी को अपनी अधिकृत शेयर पूंजी बढ़ाकर 25 हजार करोड़ करने की अनुमति दी है।

प्राप्त व्यापार समाचार हिंदी में, नवीनतम भारत समाचार हिंदी में, और शेयर बाजार, निवेश योजना और फाइनेंशियल एक्सप्रेस पर अन्य ब्रेकिंग न्यूज। हुमे पसंद कीजिए फेसबुक, पर हमें का पालन करें ट्विटर नवीनतम वित्तीय समाचार और शेयर बाजार अपडेट के लिए।