देश में केएफसी और पिज्जा हट के संचालक सैफायर फूड्स ने आईपीओ के लिए सेबी के पास प्रारंभिक दस्तावेज (डीआरएचपी) दाखिल किए हैं। हालांकि, पूरा आईपीओ ऑफर बिक्री के लिए है। इसके तहत कंपनी के मौजूदा प्रमोटर और हितधारक 17,569,941 करोड़ इक्विटी शेयर बेचेंगे। QSR मैनेजमेंट ट्रस्ट ऑफर फॉर सेल के तहत 8.50 लाख शेयर बेचेगा। वहीं, सैफायर फूड्स मॉरीशस लिमिटेड 55.69 लाख शेयर बेचेगी। WWD रूबी लिमिटेड 48.46 लाख शेयर बेचेगी। इसके अलावा एक अन्य हितधारक कंपनी नीलम अपने 39.62 लाख शेयर बेचेगी।

यम ब्रांड्स भारतीय उपमहाद्वीप में सबसे बड़ी फ्रैंचाइज़ी कंपनी है

इसके अलावा AAJV इंवेस्टमेंट ट्रस्ट 80,169, एडलवाइस क्रॉसओवर अपॉर्चुनिटीज फंड 16.15 लाख शेयर और एडलवाइस क्रॉसओवर अपॉर्चुनिटीज फंड-सीरीज II भी 6.46 लाख शेयर बेचेंगे। सफायर फूड्स एक ओमनी-चैनल रेस्तरां संचालक होने के साथ-साथ भारतीय उप-महाद्वीप में यम ब्रांड्स की सबसे बड़ी फ्रैंचाइज़ी कंपनी है। समारा कैपिटल, गोल्डमैन सैक्स, सीएक्स पार्टनर्स और एडलवाइस ने इसमें निवेश किया है। 31 मार्च, 2021 तक, सैफायर फूड्स के भारत और मालदीव में 204 केएफसी रेस्तरां थे। भारत, श्रीलंका और मालदीव में इसके 231 पिज़्ज़ा हट थे। इसके श्रीलंका में दो टैको बेल रेस्तरां हैं।

कई निवेशकों से जुटाए 1150 करोड़ रु

सोमवार को, सैफायर फूड्स ने घोषणा की कि उसने Creador, New Quest, Capital Partners और TR Capital के नेतृत्व वाले निजी इक्विटी फंडों से निवेश के प्राथमिक और द्वितीयक दौर में 1,150 रुपये जुटाए हैं। जेएम फाइनेंशियल, बोफा सिक्योरिटीज, आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज और आईआईएफएल सिक्योरिटीज इस आईपीओ के प्रमुख प्रबंधक हैं। इससे पहले केएफसी और पिज्जा हट रेस्टोरेंट की संचालक देवयानी इंटरनेशनल के 1838 करोड़ के आईपीओ का शेयर आवंटन लगभग पूरा हो चुका है। भारत में केएफसी, पिज्जा हट और कोस्टा कॉफी की सबसे बड़ी फ्रेंचाइजी कंपनी देवयानी इंटरनेशनल का यह आईपीओ 116.71 गुना ज्यादा सब्सक्राइब हुआ था।

See also  केंद्रीय मंत्री ने लांच किए खादी के नए उत्पाद, पहली बार आया 'यूज एंड थ्रो' स्लिपर,

पाना व्यापार समाचार हिंदी में, नवीनतम भारत समाचार हिंदी में, और शेयर बाजार, निवेश योजना और फाइनेंशियल एक्सप्रेस हिंदी पर अन्य ब्रेकिंग न्यूज। हुमे पसंद कीजिए फेसबुक, पर हमें का पालन करें ट्विटर नवीनतम वित्तीय समाचार और शेयर बाजार अपडेट के लिए।