सावधि जमा एफडी खोलने से पहले व्यक्तिगत वित्त पहले इन 5 मापदंडों की जांच करेंसावधि जमा (FD) को लंबे समय से पसंदीदा निवेश विकल्प माना जाता रहा है।

सावधि जमा: सावधि जमा (FD) को लंबे समय से पसंदीदा निवेश विकल्प माना जाता रहा है। आम तौर पर लोग अपने वित्तीय लक्ष्यों जैसे घर का निर्माण, कार खरीदना, शादी और उच्च शिक्षा आदि को पूरा करने के लिए FD में निवेश करते हैं। इसके अलावा, FD में निवेश करने से आपकी सेवानिवृत्ति की बेहतर तरीके से योजना बनाने में मदद मिलती है। हालांकि, FD अकाउंट खोलने से पहले निवेशकों को कुछ बातों का ध्यान रखने की जरूरत है ताकि निवेश पर रिटर्न को अधिकतम किया जा सके।

FD में निवेश करने से पहले इन मापदंडों की जाँच करें

  • FD अवधि: सावधि जमा की ब्याज दर उसके कार्यकाल से जुड़ी होती है। उदाहरण के लिए, 10 साल की FD पर रिटर्न हमेशा एक साल की FD से अधिक होगा। आप अपने वित्तीय लक्ष्यों के अनुसार शॉर्ट टर्म (1-3 साल), मीडियम टर्म (3-5 साल) और लॉन्ग टर्म (5-10 साल) की FD चुन सकते हैं।
  • रेटिंग: क्रिसिल और केयर जैसी क्रेडिट रेटिंग एजेंसियां ​​वित्तीय संस्थानों को कई मानकों पर रेटिंग देती हैं। किसी वित्तीय संस्थान की CRISIL FAA+ या CARE AA रेटिंग सबसे अच्छी मानी जाती है। अपनी पूंजी के निवेश पर जोखिम को कम करने के लिए, निश्चित रूप से वित्तीय संस्थान की क्रेडिट रेटिंग की जांच करें।

कॉरपोरेट बॉन्ड बनाम एफडी: कॉरपोरेट बॉन्ड में निवेश करना कितना फायदेमंद है? जानिए कैसे है FD से बेहतर विकल्प

  • ब्याज की दर: फिलहाल एफडी की ब्याज दरें करीब 6.7 फीसदी और वरिष्ठ नागरिकों को 0.25 फीसदी ज्यादा ब्याज मिलता है। ब्याज दरें दो प्रकार की होती हैं – संचयी और गैर-संचयी। संचयी मोड में, निवेश की गई राशि परिपक्वता तक बंद रहती है और परिपक्वता पर मूल निवेश राशि का भुगतान ब्याज के साथ किया जाता है। इसके विपरीत, गैर-संचयी मोड में, निश्चित ब्याज राशि हर महीने, तिमाही, अर्धवार्षिक या वार्षिक रूप से उपलब्ध है। ऐसे में FD खोलते समय पहले इसे सोच-समझकर चुनें।
  • ऋण सुविधा: आमतौर पर लोग लोन के लिए तब अप्लाई करते हैं जब उन्हें पैसे की जरूरत होती है। हालांकि, अगर आप FD खोलते हैं, तो आप स्वतः ही इसके एवज में लोन पाने के योग्य हो जाते हैं। इसके तहत आप निवेश पूंजी का 75 फीसदी तक कर्ज ले सकते हैं और उस पर एफडी की ब्याज दर से 2 फीसदी ज्यादा ब्याज देना होता है. FD पर लोन लेते समय, लोन की अवधि FD की अवधि के बराबर होती है. ऐसे में अगर आपने 10 साल के लिए FD अकाउंट खोला है और दूसरे साल में आपने लोन के लिए अप्लाई किया है तो आपके पास लोन चुकाने के लिए आठ साल का समय होगा.
  • वित्तीय संस्था: सभी FD अच्छे हैं लेकिन सभी वित्तीय संस्थान नहीं हैं। ऐसे में FD अकाउंट खोलने से पहले आपको वित्तीय संस्थान की विशेषताओं और मूल्यवर्धित सेवाओं का विश्लेषण करना चाहिए।
See also  कोरोना संकट के बीच MSME सेक्टर को बड़ी राहत, वर्ल्ड बैंक ने दी 50 करोड़ डॉलर के कार्यक्रम को मंजूरी

(स्रोत: टैक्स गुरु)

पाना व्यापार समाचार हिंदी में, नवीनतम भारत समाचार हिंदी में, और शेयर बाजार पर अन्य ब्रेकिंग न्यूज, निवेश योजना और फाइनेंशियल एक्सप्रेस पर बहुत कुछ। हुमे पसंद कीजिए फेसबुक, हमारा अनुसरण इस पर कीजिये ट्विटर नवीनतम वित्तीय समाचार और शेयर बाजार अपडेट के लिए।