कार लोन लेने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है

लोन मैनेज करने का आसान तरीका: कोरोना का खौफ कम होने के बावजूद लोग अब भी पब्लिक ट्रांसपोर्ट में सफर करने से परहेज कर रहे हैं. इसके बजाय लोग निजी वाहनों में यात्रा करना पसंद कर रहे हैं। यही वजह है कि हाल के दिनों में कारों की बिक्री में नया उछाल आया है। इसके साथ ही बैंकों का कार लोन पोर्टफोलियो भी बेहतर दिखने लगा है। जाहिर है कार लोन लेने वालों की संख्या बढ़ रही है। अगर आप भी कार लोन लेने जा रहे हैं तो आपको कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए। आइए जानते हैं कौन सी हैं ये जरूरी बातें, जिनका पालन करके आप कार लोन को अच्छे तरीके से मैनेज कर सकते हैं।

1. कर्ज लेने से पहले बनाएं बजट

कार खरीदने से पहले उसका बजट तय कर लें। तय करें कि आपको कौन सी कार मिलने वाली है। उद्योग के जानकारों का कहना है कि कार खरीदने से पहले लोग सेकेंडरी खर्चों की गणना नहीं करते हैं, जैसे कार का बीमा, पेट्रोल-डीजल का खर्च, मरम्मत का खर्च, मूल्यह्रास आदि। इससे उनका खर्च बढ़ जाता है। इस लागत को ध्यान में रखें

2. एक अच्छा क्रेडिट स्कोर बनाए रखना महत्वपूर्ण है

सिर्फ कार लोन ही नहीं, बल्कि किसी भी तरह का लोन लेने के लिए अच्छे क्रेडिट स्कोर की जरूरत होती है। अच्छा क्रेडिट स्कोर आपको सस्ता और आसान ऋण प्रदान कर सकता है। क्रेडिट कार्ड की बकाया राशि और अन्य ऋणों का समय पर पुनर्भुगतान आपके क्रेडिट स्कोर में इजाफा करता है। इसलिए एक मजबूत क्रेडिट स्कोर बनाए रखना महत्वपूर्ण है।

See also  जी-सेक: आरबीआई की घोषणाओं से बॉन्ड मार्केट को बढ़ावा मिलेगा, क्या हमें सरकारी बॉन्ड में निवेश करना चाहिए?

3. तय करें कि पहले कौन सी कार खरीदनी है

कारें बहुत बार नहीं खरीदी जाती हैं। इसलिए खरीदने से पहले तय कर लें कि आपके लिए सबसे अच्छी डील कहां उपलब्ध है। जानकारों का मानना ​​है कि ग्राहक को अपनी जरूरत के हिसाब से कार का चुनाव करना चाहिए। बहुत महंगी और सबसे लोकप्रिय कार नहीं है, आपको अपने विकल्प को ध्यान में रखकर चुनना चाहिए। अगर किसी को कंपनी के सस्ते ऑफर में समान फीचर की कार मिल रही है तो उसे चुनना चाहिए। इससे आप कम लोन में भी कार खरीद पाएंगे। इससे निश्चित तौर पर आपका ईएमआई का बोझ कम होगा।

4. डाउनपेमेंट जितना बड़ा होगा, उतना ही अच्छा

कार खरीदते समय जितना अधिक डाउनपेमेंट होगा, आपकी ईएमआई का बोझ उतना ही कम होगा। बड़े डाउनपेमेंट से ऋण के मूलधन और ब्याज दोनों घटक कम हो जाएंगे। मूल राशि जितनी कम होगी, कार लोन पर आपको मासिक किस्त उतनी ही कम चुकानी पड़ेगी।

आर्बिट्राज फंड्स में तेजी से निवेश कर रहे हैं निवेशक, जानिए क्या होते हैं आर्बिट्राज फंड और क्या आपको इनमें निवेश करना चाहिए?

5. कर्ज की अवधि कम रखें

आमतौर पर बैंक कार लोन की अवधि को लंबा रखने की कोशिश करते हैं। बैंकों का तर्क है कि इससे आपकी ईएमआई कम हो जाएगी। लेकिन याद रखें कि भले ही ईएमआई कम हो, आप लंबी अवधि के लिए कार ऋण का भुगतान करके बैंक को अधिक पैसा चुकाते हैं। लोन की अवधि जितनी कम होगी, आपको लोन पर मूलधन और ब्याज दोनों का भुगतान उतना ही कम करना होगा।

See also  कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण सीएम अरविंद केजरीवाल की घोषणा, दिल्ली में 3 मई को सुबह 5 बजे तक बंद

6. समय पर ईएमआई का भुगतान करें

कर्ज लेने के बाद समय पर ईएमआई का भुगतान करना आपकी जिम्मेदारी है। इससे न केवल आपके क्रेडिट स्कोर में सुधार होगा बल्कि एक ग्राहक के रूप में बैंक के साथ आपके संबंध भी सुधरेंगे। जानकारों का मानना ​​है कि ग्राहकों को कर्ज के मामले में अनुशासित रवैया अपनाना चाहिए। लोन जितनी जल्दी क्लियर हो जाए, उतना अच्छा है।

पाना व्यापार समाचार हिंदी में, नवीनतम भारत समाचार हिंदी में, और शेयर बाजार पर अन्य ब्रेकिंग न्यूज, निवेश योजना और बहुत कुछ फाइनेंशियल एक्सप्रेस हिंदी पर। हुमे पसंद कीजिए फेसबुक, हमारा अनुसरण इस पर कीजिये ट्विटर नवीनतम वित्तीय समाचार और शेयर बाजार अपडेट के लिए।