पी-नोट्स के जरिए निवेश में लगातार बढ़ोतरी हो रही है।

पी-नोट्स के जरिए पूंजी बाजार में निवेश में खासी बढ़ोतरी हुई है। जुलाई के अंत तक पार्टिसिपेटरी नोट्स (पी-नोट्स) के जरिए निवेश 1.02 लाख करोड़ रुपये को पार कर गया। यह पिछले 40 महीनों के दौरान पी-नोट्स के जरिए निवेश का उच्चतम स्तर है। लगातार चौथे महीने पी-नोट्स के जरिए निवेश में बढ़ोतरी हुई है। पी-नोट पंजीकृत विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) द्वारा विदेशी निवेशकों को जारी किए जाते हैं। ये नोट उन्हें भारतीय बाजार में पंजीकृत हुए बिना शेयर बाजार में निवेश करने का मौका देते हैं। हालांकि, उन्हें उचित परिश्रम प्रक्रिया से गुजरना होगा।

जुलाई में 1,01,798 करोड़ रुपये का निवेश

सेबी के आंकड़ों के मुताबिक, जुलाई 2021 के अंत तक इक्विटी, डेट और हाइब्रिड सिक्योरिटीज समेत पी-नोट्स के जरिए भारतीय बाजार में कुल 1,01,798 करोड़ रुपये का निवेश किया गया। 30 जून तक यह निवेश 92,261 करोड़ रुपये का था। जुलाई के अंत तक पी-नोट्स के जरिए 1,01,798 करोड़ रुपये का निवेश किया जा चुका है। इसमें से 93,150 करोड़ रुपये शेयरों में निवेश किए गए। वहीं, कर्ज में 8,290 करोड़ रुपये का निवेश हुआ है, जबकि हाइब्रिड प्रतिभूतियों में 358 करोड़ रुपये का निवेश किया गया है।

AGS Transact Tech लाएगी 800 करोड़ का IPO, चौथी बार सेबी के पास जमा कराए कागजात

भारतीय बाजार में बढ़ रहा है विदेशी निवेशकों का भरोसा

मार्च 2018 के बाद पी-नोट्स के जरिए सबसे ज्यादा निवेश जुलाई 2021 में हुआ। जुलाई में इसके जरिए 1,06,403 करोड़ रुपये का निवेश किया गया है। जानकारों का कहना है कि पी-नोट्स के जरिए निवेश में बढ़ोतरी यह साबित करती है कि भारतीय पूंजी बाजार में निवेशकों का भरोसा बढ़ रहा है। जुलाई के अंत में FPI के पास 48.36 लाख करोड़ रुपये की संपत्ति थी, जबकि जून के अंत में यह संपत्ति 48 करोड़ रुपये की थी।

See also  KRISHNA JANMSHTAMI 2021: जन्माष्टमी पर अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को भेजें स्टिकर, ऐसे करें डाउनलोड

पाना व्यापार समाचार हिंदी में, नवीनतम भारत समाचार हिंदी में, और शेयर बाजार पर अन्य ब्रेकिंग न्यूज, निवेश योजना और बहुत कुछ फाइनेंशियल एक्सप्रेस हिंदी पर। हुमे पसंद कीजिए फेसबुक, हमारा अनुसरण इस पर कीजिये ट्विटर नवीनतम वित्तीय समाचार और शेयर बाजार अपडेट के लिए।