इंडिया पेस्टिसाइड्स आईपीओ के जरिए 800 करोड़ रुपये जुटाएगी।

लगातार आईपीओ के सिलसिले में एक और कंपनी प्राइमरी मार्केट से फंड जुटाने के लिए उतर रही है। इंडिया पेस्टिसाइड्स का आईपीओ 23 जून को सब्सक्रिप्शन के लिए खुल रहा है। कंपनी का आईपीओ 800 करोड़ रुपये का होगा। इस एग्रोकेमिकल टेक्निकल कंपनी का इश्यू सब्सक्रिप्शन के लिए 23 जून, 2021 को खुलेगा और 25 जून, 2021 को बंद होगा। इस पब्लिक इश्यू में 100 करोड़ रुपये के नए शेयर जारी किए जाएंगे। प्रमोटर आनंद स्वरूप अग्रवाल 281.4 करोड़ रुपये का ऑफर फॉर सेल लाएंगे। वहीं, शेयरधारकों के 418.6 करोड़ रुपये के शेयर बेचे जाएंगे। कंपनी के शेयर बीएसई और एनएसई दोनों पर लिस्ट होंगे। एक्सिस कैपिटल लिमिटेड और जेएम फाइनेंशियल लिमिटेड को इस आईपीओ के बुक रनिंग के लिए लीड मैनेजर के रूप में नियुक्त किया गया है, जबकि केफिन टेक्नोलॉजीज प्राइवेट लिमिटेड इसके रजिस्ट्रार हैं।

भारत कीटनाशक क्या करता है?

भारत के कीटनाशक अनुसंधान एवं विकास आधारित तकनीकी प्रमुख कृषि रसायन निर्माता हैं। कंपनी का फॉर्म्युलेशन बिजनेस बढ़ रहा है। कंपनी कैप्टन, फोलपेट और थियोकार्बामेट कीटनाशकों की उत्पादन क्षमता के मामले में दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियों में से एक है। यह देश में कम से कम पांच तकनीकी का एकमात्र निर्माता है। भारत कीटनाशकों की सूचीबद्ध सहकर्मी कंपनियों में धानुका एग्रोटेक लिमिटेड, भारत रसायन लिमिटेड, यूपीएल लिमिटेड, रैलिस इंडिया, पीआई इंडस्ट्रीज, सुमितोमो केमिकल इंडिया और अतुल इंडिया शामिल हैं। उद्योग का औसत पीई 47.44x है। 2019, 2020 और 2021 के लिए निवल मूल्य पर भारित प्रतिफल 30.37 प्रतिशत है। कंपनी आईपीओ के जरिए जुटाई गई रकम में से 80 करोड़ रुपये कार्यशील पूंजी के तौर पर इस्तेमाल करेगी। शेष राशि का उपयोग सामान्य कॉर्पोरेट जरूरतों के लिए किया जाएगा।

READ  भारतीय रेलवे इस महीने शुरू करने जा रही है ये स्पेशल ट्रेनें, देखें पूरी लिस्ट

टोयोटा ग्राहकों के लिए बड़ी राहत की खबर, घर बैठे मांगें गाड़ी के टायर-बैटरी जैसे असली पुर्जे

धान और गेहूं की फसल के लिए कीटनाशक रसायन बनाने में अग्रणी

इंडिया पेस्टिसाइड्स कीटनाशकों और कवकनाशी और एपीआई की एक विविध निर्माण कंपनी है। थियोकार्बामेट कंपनी द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली कीटनाशक तकनीकों में से एक है। इसका उपयोग धान, गेहूं की फसलों को कीड़ों से बचाने के लिए किया जाता है। इस केमिकल का इस्तेमाल पूरी दुनिया में किया जाता है। फसलों को कीड़ों से बचाने के लिए भारत वर्तमान में दुनिया में रसायनों का चौथा सबसे बड़ा निर्माता है।

प्राप्त व्यापार समाचार हिंदी में, नवीनतम भारत समाचार हिंदी में, और शेयर बाजार पर अन्य ब्रेकिंग न्यूज, निवेश योजना और फाइनेंशियल एक्सप्रेस पर बहुत कुछ। हुमे पसंद कीजिए फेसबुक, पर हमें का पालन करें ट्विटर नवीनतम वित्तीय समाचार और शेयर बाजार अपडेट के लिए।