Mahindra & Mahindra के शेयर में अच्छे रिटर्न की उम्मीद दिख रही है.

महिंद्रा एंड महिंद्रा ने चालू वित्त वर्ष (2021-22) की पहली तिमाही के दौरान अच्छा प्रदर्शन नहीं किया है। इसमें पिछले वित्त वर्ष की पहली तिमाही के मुकाबले गिरावट दर्ज की गई है। चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में महिंद्रा एंड महिंद्रा का EBITDA गिरकर 16.3 अरब रुपये हो गया है, जो कोटक इंस्टीट्यूशनल इक्विटीज के अनुमान के मुताबिक 7 फीसदी और कम है। ऑटोमोबाइल कारोबार में गिरावट को देखते हुए यह स्वाभाविक है। लेकिन महिंद्रा एंड महिंद्रा ने घाटे में चल रही अपनी सहायक कंपनियों को बेचकर कुछ संयुक्त उपक्रमों और सौदों से बाहर निकलकर कंपनी में पूंजी निवेश बढ़ाने के लिए कड़े कदम उठाए हैं। उम्मीद है कि इंटरनेशनल फार्म और ऑटो सब्सिडियरी की स्थिति में सुधार होने पर कंपनी के रिटर्न ऑन इक्विटी (आरओई) में सुधार होगा। इसलिए इसकी BUY रेटिंग बरकरार रखी जा रही है।

महिंद्रा एंड महिंद्रा रेटिंग की राय – खरीदें – कोटक इंस्टीट्यूशनल इक्विटीज

कोटक इंस्टीट्यूशनल इक्विटीज का कहना है कि कंपनी की कमोडिटी महंगाई और सेमीकंडक्टर्स की सप्लाई की समस्या चिंता का विषय बनी रहेगी। कंपनी के लॉन्ग टर्म इनवेस्टमेंट इतना रिटर्न नहीं दे पाए हैं और उन्हें 78 करोड़ रुपये से ज्यादा का नुकसान हुआ है। वित्त वर्ष 2021-22 की पहली तिमाही में समेकित राजस्व में 11 फीसदी की गिरावट आई है। महिंद्रा फाइनेंस के 21.8 अरब रुपये के एबिट लॉस से महिंद्रा एंड महिंद्रा को इस तिमाही में आठ अरब रुपये का घाटा हुआ है। कोटक इंस्टीट्यूशनल इक्विटीज का मानना ​​है कि एक बार सेमीकंडक्टर्स की आपूर्ति की समस्या का समाधान हो जाने के बाद कंपनी में रिकवरी दिखाई देगी। मॉनसून अच्छा रहने से कंपनी के ट्रैक्टर सेगमेंट की मांग अच्छी बनी रहेगी। सरकार इस साल भी खर्च कर रही है। इसलिए इसमें BUY रेटिंग को बरकरार रखा गया है।

See also  टीएमसी में यशवंत सिन्हा: यशवंत सिन्हा टीएमसी में शामिल हुए, अटल सरकार में वित्त मंत्री थे

Divi’s Laboratories Rating – BUY टारगेट प्राइस -5,465 रुपये – देखें HSBC

HSBC ने Divi’s Laboratories को BUY रेटिंग दी है। वित्त वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही की तुलना में वित्त वर्ष 2021-22 की पहली तिमाही के दौरान राजस्व में 14 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। है। यह 19.5 अरब रुपये तक पहुंच गया है, जो उम्मीद के मुताबिक है। कंपनी का फार्मास्युटिकल सेल्स मिक्स अच्छा है। जेनेरिक और कस्टम सिंथेसिस सेगमेंट का बिजनेस रेशियो 50:50 है। कंपनी का ग्रॉस मार्जिन 67 फीसदी है। पिछली कुछ तिमाहियों में इसने 67-69 फीसदी के दायरे को बनाए रखा है। एबिटा मार्जिन भी बढ़ा है। DIVI’S ने भी अपनी वृद्धि पर काफी निवेश किया है। HSBC ने अपने लक्ष्य मूल्य को संशोधित कर 5,465 रुपये कर दिया है, पहले यह 5130 रुपये था। इसे BUY का दर्जा दिया गया है।

पाना व्यापार समाचार हिंदी में, नवीनतम भारत समाचार हिंदी में, और शेयर बाजार, निवेश योजना और फाइनेंशियल एक्सप्रेस पर अन्य ब्रेकिंग न्यूज। हुमे पसंद कीजिए फेसबुक, पर हमें का पालन करें ट्विटर नवीनतम वित्तीय समाचार और शेयर बाजार अपडेट के लिए।