सेबी ने संसेरा इंजीनियरिंग के आईपीओ को मंजूरी दी

सेबी ने ऑटो निर्माता कंपनी संसेरा इंजीनियरिंग के आईपीओ को मंजूरी दे दी है। कंपनी का पूरा आईपीओ ऑफर फॉर सेल होगा। इसके तहत कंपनी कोई फंड नहीं जुटाएगी। आईपीओ के जरिए कोई नया शेयर जारी नहीं किया जाएगा। इसके तहत कंपनी के मौजूदा शेयरधारक और प्रमोटर अपने 1.72 करोड़ शेयर बेचेंगे। क्लाइंट एबेने लिमिटेड इस आईपीओ के जरिए 86.35 लाख शेयर बेचेगी। Sansera Engineering का IPO लाने का यह दूसरा प्रयास है। इससे पहले अगस्त 2018 में, कंपनी ने सेबी को आईपीओ दस्तावेज जमा किए थे लेकिन उसने अपनी योजना को बीच में ही रोक दिया था।

खुदरा निवेशकों के लिए 35% आरक्षित

डीआरएचपी के मुताबिक, इश्यू का 50 फीसदी क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल बायर्स (क्यूआईबी) के लिए होगा। वहीं, 15 फीसदी हिस्सा गैर-संस्थागत निवेशकों यानी एनआईआई के लिए आरक्षित है। शेष 35 प्रतिशत खुदरा निवेशकों के लिए आरक्षित है। आईपीओ के बाद, कंपनी अपनी सहकर्मी कंपनियों एंड्योरेंस टेक्नोलॉजीज, मिंडा इंडस्ट्रीज, सुंदरम फास्टनरों, सुप्रजीत इंजीनियरिंग, भारत फोर्ज, मदरसन सुमी सिस्टम्स और महिंद्रा सीआईई ऑटोमोटिव की लाइन में शामिल हो सकती है। ये सभी कंपनियां स्टॉक एक्सचेंज में लिस्टेड हैं।

एप्टस वैल्यू हाउसिंग फाइनेंस का आईपीओ खुला, ग्रे मार्केट में कमजोर प्रतिक्रिया, लेकिन निवेश को लेकर क्या है विशेषज्ञों की राय

संसेरा इंजीनियरिंग की कमाई बढ़ी

2018-19 में Sansera Engineering का EBIDTA 295 करोड़ रुपये रहा। जबकि 2017-18 के लिए एबिटा 292 करोड़ रुपये था। इस दौरान कंपनी का शुद्ध लाभ 98 करोड़ रुपये से बढ़कर 109.86 करोड़ रुपये हो गया। आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज, आईआईएफएल सिक्योरिटीज, नोमुरा फाइनेंशियल एडवाइजरी और सिक्योरिटीज इस आईपीओ के बुक रनिंग और लीड मैनेजर हैं।

See also  पेट्रोल-डीजल के दाम आज: तमिलनाडु के बाद पुडुचेरी में लोगों को राहत, पेट्रोल पर 3% घटा वैट, चेक करें अपने शहर में तेल के दाम

पाना व्यापार समाचार हिंदी में, नवीनतम भारत समाचार हिंदी में, और शेयर बाजार, निवेश योजना और फाइनेंशियल एक्सप्रेस पर अन्य ब्रेकिंग न्यूज। हुमे पसंद कीजिए फेसबुक, पर हमें का पालन करें ट्विटर नवीनतम वित्तीय समाचार और शेयर बाजार अपडेट के लिए।