सेकेंड हैंड स्मार्टफोन मार्केट में Xiaomi टॉप पर, जानिए यहां डिटेल मेंअपने स्मार्टफोन बेचने वालों में 80 प्रतिशत पुरुष थे जबकि केवल 20 प्रतिशत महिलाओं ने अपने स्मार्टफोन बेचे।

सेकेंड हैंड स्मार्टफोन: देश में स्मार्टफोन की बिक्री तेजी से बढ़ी है और इसके साथ ही सेकेंड हैंड स्मार्टफोन की बिक्री भी तेजी से बढ़ी है। सेकेंड-हैंड स्मार्टफोन्स की बात करें तो पिछले साल 2020 में 26 फीसदी स्मार्टफोन Xiaomi ने बेचे थे और इस तरह सेकेंड हैंड स्मार्टफोन मार्केट में इसने अपना दबदबा बनाए रखा है। Xiaomi के बाद Apple के iPhone सबसे ज्यादा बिकते हैं। इस मार्केट में एपल की 20 फीसदी हिस्सेदारी है, यानी 10 में से दो स्मार्टफोन एपल की ओर से बेचे जा रहे हैं। यह आंकड़ा यूज्ड स्मार्टफोन मार्केटप्लेस कैशिफाई ने तैयार किया है।
कोरोना महामारी के चलते पूरे देश में लॉकडाउन लगा दिया गया था। इस वजह से घर से काम करने या पढ़ाई करने की जरूरत के चलते स्मार्टफोन की मांग बढ़ गई। ऑनलाइन क्लास या वर्क फ्रॉम होम के लिए ऐप सपोर्ट पाने के लिए अपने स्मार्टफोन (3जी से 4जी) को अपग्रेड करना समय की जरूरत बन गया है। Cashify के एक सर्वे के मुताबिक, जो लोग नए स्मार्टफोन खरीदने में सक्षम नहीं हैं, वे रीफर्बिश्ड पर जोर दे रहे हैं और Mi इस सेगमेंट में हर किसी की पसंद बना हुआ है।

Apple CEO का दावा, Android में iOS से 47 गुना ज्यादा मैलवेयर, यूजर्स की प्राइवेसी पर जोर

सैमसंग ने सेकेंड-हैंड मार्केट में ऐप्पल की मांग की

सेकेंड हैंड स्मार्टफोन के मार्केट शेयर की बात करें तो Xiaomi का 26 फीसदी के साथ दबदबा कायम है। एपल 20 फीसदी के साथ दूसरे, सैमसंग 16 फीसदी के साथ तीसरे और मोटोरोला और वीवो 6-6 फीसदी के साथ चौथे स्थान पर हैं। सर्वे में दिल्ली से 23 फीसदी, मुंबई से 13 फीसदी, बेंगलुरु से 11 फीसदी और हैदराबाद से 7 फीसदी शामिल थे। गाजियाबाद, फरीदाबाद, अहमदाबाद और लखनऊ जैसे सैटेलाइट शहरों ने भी विकास दिखाया और आगामी शहर की श्रेणी में शीर्ष पर रहे।

READ  ग्लेनमार्क लाइफ साइंसेज का आईपीओ: ग्लेनमार्क के आईपीओ को सब्सक्राइब करने का आज आखिरी मौका, पैसा लगाने के लिए विशेषज्ञों की ये है राय

केवल 20% महिलाओं ने अपने स्मार्टफोन बेचे

सर्वे से मिली जानकारियों के मुताबिक पिछले साल 2020 में लोगों ने अपने सेकेंड हैंड स्मार्टफोन्स को औसतन 4217 रुपये की कीमत में बेचा है। ज्यादातर यूजर्स ऐसे थे जिन्होंने स्मार्टफोन को करीब तीन साल तक रखने के बाद बेचा और 62 फीसदी स्क्रीन से संबंधित समस्याएं थीं और 21 प्रतिशत में बैटरी संबंधी समस्याएं थीं। सर्वे के मुताबिक स्मार्टफोन बेचने वालों में 80 फीसदी पुरुष थे, जबकि सिर्फ 20 फीसदी महिलाओं ने अपने स्मार्टफोन बेचे।

इस सर्वे में करीब 4 हजार लोगों से प्रतिक्रियाएं ली गईं। सर्वे के मुताबिक ज्यादातर भारतीयों ने लैपटॉप की जगह स्मार्टफोन खरीदना पसंद किया। इसके अलावा स्मार्टफोन खरीदने के 14-18 महीने के अंदर 84 फीसदी ने इसे अपग्रेड कर दिया। लोगों ने खरीदारी के लिए नो-कॉस्ट ईएमआई और रिप्लेसमेंट वारंटी के विकल्प को प्रमुख मानक बनाया।
(अनुच्छेद: किरण राठी)

प्राप्त व्यापार समाचार हिंदी में, नवीनतम भारत समाचार हिंदी में, और शेयर बाजार पर अन्य ब्रेकिंग न्यूज, निवेश योजना और फाइनेंशियल एक्सप्रेस पर बहुत कुछ। हुमे पसंद कीजिए फेसबुक, पर हमें का पालन करें ट्विटर नवीनतम वित्तीय समाचार और शेयर बाजार अपडेट के लिए।