शेयर बाजार के दृष्टिकोणशेयर बाजार आउटलुक: क्रेडिट सुइस वेल्थ के अनुसार, वर्तमान में, निवेशकों को मिडकैप और रक्षात्मक शेयरों में निवेश करना चाहिए।

शेयर बाजार आउटलुक: कोराना वायरस के तेजी से विस्तार के कारण शेयर बाजार दबाव में है। निवेशक सावधानी से व्यापार कर रहे हैं और निरंतर लाभ वसूली देख रहे हैं। विशेषज्ञ मान रहे हैं कि बाजार पर मौजूदा दबाव आगे भी जारी रहने वाला है। इस संबंध में, क्रेडिट सुइस (सीएस) वेल्थ मैनेजमेंट का कहना है कि कोविद -19 संक्रमण के कारण बाजार में चल रहा सुधार एक विस्तार हो सकता है। इक्विटी मार्केट में आने वाले हफ्तों में कुछ और मुनाफावसूली देखने को मिल सकती है। हालांकि, रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि उम्मीद है कि यह सुधार बहुत तेज और लंबा नहीं होगा। आपको बता दें कि फरवरी में ऑलटाइम हाई से सेंसेक्स में 9 प्रतिशत की गिरावट आई है। सेंसेक्स मंगलवार को 3 महीने के निचले स्तर पर आ गया।

क्रय अवसर बनाने की घोषणा

क्रेडिट सुइस (सीएस) धन प्रबंधन रणनीतिकारों जितेंद्र गोहिल और प्रेमल कामदार ने एक नोट में कहा कि शेयर बाजार में सुधार आगे भी जारी रह सकता है, लेकिन निवेशकों को घरेलू बाजार से दूर नहीं होना चाहिए। इसके बजाय, बाजार में गिरावट को खरीद के अवसर के रूप में इस्तेमाल किया जाना चाहिए। रिपोर्ट के अनुसार, निवेशकों को 6 से 9 महीने की अवधि को ध्यान में रखते हुए निवेश करने की सलाह दी जाती है।

रिपोर्ट में, उन्होंने कहा कि जबकि हमारी वैश्विक निवेश समिति (आईसी) यह स्वीकार करती है कि इक्विटी के संदर्भ में निकट अवधि में चुनौतियां होंगी, मध्यावधि के संदर्भ में इक्विटी पर सकारात्मक दृष्टिकोण है। वास्तव में, अर्थव्यवस्था के विकास की संभावनाएं बेहतर हैं, जबकि मौद्रिक नीति भी बाजार के अनुकूल है।

READ  कोरोना संकट में 'सुपर स्टार्स' की स्टॉक रणनीति; झुनझुनवाला, दमानी और डॉली खन्ना ने क्या खरीदा और बेचा?

ये चुनौतियां हैं

क्रेडिट सुइस की रिपोर्ट के अनुसार, वर्तमान में सबसे बड़ी चुनौती कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों की है। बता दें कि पिछले 2 दिनों से हर दिन औसतन 3 लाख से ज्यादा मामले सामने आए हैं। यह दुनिया भर के किसी भी देश की तुलना में रिकॉर्ड संख्या में दिन है। इसके अलावा, बॉन्ड यील्ड में बढ़ोतरी भी एक चुनौती है, जिसने निवेशकों को इक्विटी से बाहर कर दिया है। रुपये के मुकाबले डॉलर का मजबूत होना भी एक चुनौती है।

मिडकैप और रक्षात्मक शेयरों पर नजर रखें

क्रेडिट सुइस की रिपोर्ट के अनुसार, बाजार की गिरावट को खरीद के अवसर के रूप में लिया जाना चाहिए। मौजूदा समय मिडकैप और डिफेंसिव शेयरों पर नजर रखने का है। अगर वित्त वर्ष 2021 की दूसरी छमाही से विकास एक बार फिर से लौटता है, तो इन शेयरों में निवेश से लाभ होगा।

प्राप्त व्यापार समाचार हिंदी में, नवीनतम इंडिया न्यूज हिंदी में, और शेयर बाजार, निवेश योजना और फाइनेंशियल एक्सप्रेस हिंदी पर बहुत कुछ अन्य ब्रेकिंग न्यूज। हुमे पसंद कीजिए फेसबुक, पर हमें का पालन करें ट्विटर नवीनतम वित्तीय समाचार और शेयर बाजार अपडेट के लिए।