रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों ने नई ऊंचाई को छुआ है।

1 सितंबर को जस्ट डायल का अधिग्रहण पूरा होने के महज दो दिन बाद रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गए। शुक्रवार को इंट्राडे ट्रेडिंग के दौरान रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर 2383.80 रुपये पर पहुंच गए। रिलायंस रिटेल वेंचर्स लिमिटेड (आरआरवीएल) के पास अब जस्ट डायल में 40.98 प्रतिशत हिस्सेदारी है। इसके अलावा रिलायंस ने गणेश चतुर्थी (10 सितंबर, 2021) को जियोफोन नेक्स्ट लॉन्च करने की भी घोषणा की है। इससे शेयरों की कीमत में भी फर्क पड़ता दिख रहा है।

रिलायंस के शेयर इस साल अब तक 20 फीसदी चढ़ चुके हैं

रिलायंस के शेयरों में नई ऊंचाई के बाद बाजार पूंजीकरण बढ़कर 2,368.80 रुपये हो गया। इससे पहले 16 सितंबर को बाजार पूंजीकरण इस स्तर पर पहुंच गया था। पिछले पांच दिनों में रिलायंस के शेयरों में 5.42 फीसदी की तेजी दर्ज की गई है. जबकि पिछले एक महीने में इस शेयर में 14 फीसदी की तेजी देखने को मिली है. 2021 में अब तक यह शेयर 19.71 फीसदी चढ़ चुका है। पिछले पांच साल में रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों ने निवेशकों को 360 फीसदी का जबरदस्त रिटर्न दिया है.

क्या कह रहे हैं विशेषज्ञ

रेलिगेयर ब्रोकिंग के वाइस प्रेसिडेंट (रिसर्च) अजीत मिश्रा के मुताबिक कंपनी ने इसे BUY रेटिंग दी है। उनका कहना है कि निवेशकों को इसे 2700 के टारगेट प्राइस के साथ होल्ड करना चाहिए।

बोनांजा पोर्टफोलियो लिमिटेड के शोध प्रमुख विशाल वाघ का कहना है कि निवेशकों को रिलायंस इंडस्ट्रीज में 2180 रुपये से नीचे के स्टॉपलॉस के साथ निवेश जारी रखना चाहिए। अगली कुछ तिमाहियों के लिए इसका लक्ष्य मूल्य 2600 रुपये से ऊपर रखा गया है। जिनके पास यह हिस्सा है, वे इसे बरकरार रख सकते हैं। 2180 के स्टॉप लॉस के साथ एवरेजिंग भी की जा सकती है।

See also  सीबीएसई कक्षा 10, 12 परिणाम 2021: 16 अगस्त से होंगी इम्प्रूवमेंट और कंपार्टमेंट परीक्षा, सीबीएसई ने जारी किया शेड्यूल

स्टॉक मार्केट टिप्स: व्हर्लपूल और ओरिएंट इलेक्ट्रिक के शेयर दे सकते हैं अच्छा रिटर्न, जानिए क्या है एक्सपर्ट्स की राय

अंबानी ने कहा, नई ऊर्जा में होगा 75 हजार करोड़ का निवेश

टेक्निकल एनालिस्ट्स का कहना है कि शॉर्ट टर्म ट्रेडर्स इसमें प्रॉफिट बुक कर बाहर निकल सकते हैं। या आप स्टॉप लॉस को ध्यान में रखते हुए गति के चढ़ने का इंतजार कर सकते हैं। सीएमएसटी कंसल्टिंग टेक्निकल और जेमस्टोन इक्विटी रिसर्च एंड सर्विसेज के संस्थापक मिलन वैष्णव का कहना है कि मध्यम अवधि के निवेशक इस शेयर को 2250 के स्टॉपलॉस के साथ खरीद सकते हैं। शुक्रवार को मुकेश अंबानी ने इंटरनेशनल क्लाइमेट समिट में कहा था कि उनकी कंपनी निवेश करेगी। अगले तीन वर्षों में हरित ऊर्जा से संबंधित परियोजनाओं में 75,000 करोड़ रुपये।

(अनुच्छेद: सुरभि जैन)

(कहानी में दी गई स्टॉक सिफारिशें संबंधित शोध विश्लेषकों और ब्रोकरेज फर्मों की हैं। फाइनेंशियल एक्सप्रेस ऑनलाइन इसकी कोई जिम्मेदारी नहीं लेती है। पूंजी बाजार में निवेश जोखिम के अधीन है। कृपया निवेश करने से पहले अपने सलाहकार से परामर्श लें।)

पाना व्यापार समाचार हिंदी में, नवीनतम भारत समाचार हिंदी में, और शेयर बाजार, निवेश योजना और फाइनेंशियल एक्सप्रेस हिंदी पर अन्य ब्रेकिंग न्यूज। हुमे पसंद कीजिए फेसबुक, हमारा अनुसरण इस पर कीजिये ट्विटर नवीनतम वित्तीय समाचार और शेयर बाजार अपडेट के लिए।