ल्यूपिन में राकेश झुनझुनवाला की 1.60 फीसदी हिस्सेदारी है।

राकेश झुनझुनवाला समाचार: बिग बुल राकेश झुनझुनवाला के पसंदीदा शेयरों में से एक ल्यूपिन गुरुवार को करीब सात फीसदी गिर गया। बुधवार को भी शेयर में छह फीसदी की गिरावट आई थी। पिछले दो दिनों में 13 फीसदी की गिरावट के बाद इसमें पैसा लगाने वाले निवेशकों में दहशत है. उन्हें समझ नहीं आ रहा है कि वे इससे बाहर निकलें या रहें। दरअसल जून तिमाही में अमेरिकी बाजार में बिक्री में गिरावट की वजह से इसकी कमाई बाजार के अनुमान के मुताबिक नहीं रही। इस बाजार में ल्यूपिन के ग्रॉस मार्जिन में गिरावट के बाद बुधवार को इसके शेयरों में छह फीसदी की गिरावट आई. फिर गुरुवार को भी इसमें गिरावट आई। गुरुवार को इसके शेयर गिरकर 978 रुपये पर आ गए।

अमेरिकी बाजार में खराब प्रदर्शन से शेयरों को झटका

चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में ल्यूपिन का शुद्ध लाभ 542 करोड़ रुपये रहा है। वहीं, पिछले वित्त वर्ष (2020-210) की पहली तिमाही में शुद्ध लाभ केवल 106.9 करोड़ रुपये था। इस दिग्गज फार्मा कंपनी की रेवेन्यू में भी इजाफा हुआ है। पिछले वित्त वर्ष (2020-21) की पहली तिमाही में कंपनी का राजस्व 3468.63 करोड़ रुपये था, लेकिन चालू वित्त वर्ष (2021-22) की पहली तिमाही में राजस्व बढ़कर 4,237 करोड़ रुपये हो गया। लेकिन अमेरिकी बाजार में इसका रेवेन्यू 11.8 फीसदी गिरकर 172 करोड़ डॉलर रह गया। अमेरिकी बाजार में बिक्री कम होने से इसके सकल मार्जिन में भी गिरावट आई है। इसका कंपनी के शेयरों पर गहरा असर पड़ा है। यही वजह है कि बड़े निवेशक इससे बाहर आने लगे हैं। दो दिनों में इसकी 13 फीसदी की गिरावट इसका सबूत है। इस कंपनी में राकेश झुनझुनवाला की 1.60 फीसदी हिस्सेदारी है। जून तिमाही में उनके पास 72,45,605 शेयर थे। ऐसे में क्या आम निवेशकों के लिए LUPINE के शेयरों में उतरने का मौका है?

See also  Disney+ Hotstar ने लॉन्च किए तीन नए प्लान, 499 रुपये से शुरू

राकेश झुनझुनवाला ने इतना बड़ा मुनाफा कमाने वाला स्टॉक क्यों बेचा? जानिए क्या है बिग बुल के इस दांव के पीछे का राज

क्या है प्रमुख ब्रोकरेज कंपनियों की राय

आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज का कहना है कि अमेरिकी बाजार में कंपनी की बिक्री पर दबाव बना रहेगा। इसकी नई दवाओं को मंजूरी मिलने में भी दिक्कतें आ रही हैं। कंपनी के टर्म टर्म आउटलुक को लेकर अनिश्चितता है। कंपनी का एबिटा मार्जिन 20 फीसदी तक कम रह सकता है। आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज ने अपनी रेटिंग घटाकर 962 रुपये कर दी है। एक अन्य ब्रोकरेज फर्म मोतीलाल ओसवाल ने भी ल्यूपिन के शेयरों की रेटिंग को 1040 रुपये के लक्ष्य मूल्य के साथ घटाकर न्यूट्रल कर दिया है। प्रभुदास लीलाधर ने इसे डाउनग्रेड किया है और इसका लक्ष्य मूल्य रखा है। 955. इससे पहले इसने अपना लक्ष्य मूल्य 1314 रुपये रखा था और अपने शेयरों को जमा होने की सलाह दी थी।

(कहानी में दी गई स्टॉक सिफारिशें संबंधित शोध विश्लेषकों और ब्रोकरेज फर्मों की हैं। फाइनेंशियल एक्सप्रेस ऑनलाइन इसकी कोई जिम्मेदारी नहीं लेती है। पूंजी बाजार में निवेश जोखिम के अधीन है। कृपया निवेश करने से पहले अपने सलाहकार से परामर्श लें।)

पाना व्यापार समाचार हिंदी में, नवीनतम भारत समाचार हिंदी में, और शेयर बाजार पर अन्य ब्रेकिंग न्यूज, निवेश योजना और बहुत कुछ फाइनेंशियल एक्सप्रेस हिंदी पर। हुमे पसंद कीजिए फेसबुक, पर हमें का पालन करें ट्विटर नवीनतम वित्तीय समाचार और शेयर बाजार अपडेट के लिए।