साइबर अपराध से खुद को बचाने के लिए अपना नेट बैंकिंग पासवर्ड मजबूत बनाएंआइए जानते हैं कुछ ऐसे टिप्स, जिनकी मदद से आप अपने नेटबैंकिंग पासवर्ड को मजबूत बना सकते हैं।

सुरक्षित और मजबूत पासवर्ड कैसे बनाएं: कोरोना महामारी के दौरान लोगों के जीवन में कई बदलाव आए हैं। अब ज्यादातर लोग नेटबैंकिंग का इस्तेमाल सिर्फ बैंक से जुड़े कामों के लिए ही करते हैं। ऐसे में साइबर क्राइम के मामले भी लगातार बढ़ते जा रहे हैं. साइबर क्राइम से बचने के लिए यह बेहद जरूरी है कि लोग अपने नेटबैंकिंग पासवर्ड को मजबूत रखें। आइए जानते हैं कुछ ऐसे टिप्स, जिनकी मदद से आप अपने नेटबैंकिंग पासवर्ड को मजबूत बना सकते हैं।

इन बातों का रखें ध्यान

  • अपने पासवर्ड में अपरकेस (कैपिटल) और लोअरकेस (लोअर) दोनों अक्षरों का प्रयोग करें। उदाहरण के लिए, aBjsE7uG.
  • पासवर्ड में नंबर और सिंबल दोनों का इस्तेमाल करें। उदाहरण के लिए, AbjsE7uG6!@।
  • पासवर्ड को मजबूत रखने के लिए उसमें कम से कम आठ अक्षरों का प्रयोग करें। उदाहरण के लिए, aBjsE7uG.
  • अपना पासवर्ड रखते समय किसी भी सामान्य शब्द का प्रयोग न करें। उदाहरण के लिए, itislocked या thisismypassword।
  • इसके अलावा पासवर्ड बनाते समय कीबोर्ड पर एक पंक्ति में अक्षरों का प्रयोग न करें। जैसे- क्वर्टी या asdfg।
  • बहुत आसान पासवर्ड जैसे 1234567 या abcdefgh का प्रयोग बिल्कुल भी न करें।
  • अपना पासवर्ड लंबा रखें और इसे अपने परिवार या जन्मतिथि से न जोड़ें। जैसे- रमेश@1967।

Realme C21Y India Launch: कीमत 8,999 रुपये से शुरू; Redmi 9, Nokia G20 को मिलेगी टक्कर

इसके अलावा सुरक्षित नेटबैंकिंग के लिए कुछ अन्य बातों का भी ध्यान रखना जरूरी है। उदाहरण के लिए, अपना मोबाइल नंबर और ई-मेल आईडी रजिस्टर या अपडेट करें ताकि आपको बैंकिंग लेनदेन की सूचनाएं मिल सकें। संदेश में किसी ऐसे URL का अनुसरण न करें जिसके बारे में आप पूरी तरह आश्वस्त नहीं हैं। अगर आपको अपना मोबाइल किसी अन्य व्यक्ति के साथ साझा करना है या मरम्मत/रखरखाव के लिए भेजना है, तो ब्राउज़िंग इतिहास साफ़ करें। मेमोरी में संग्रहीत अस्थायी फ़ाइलों को साफ़ करें क्योंकि उनमें आपका खाता नंबर और अन्य संवेदनशील जानकारी हो सकती है। अपने बैंक से संपर्क करके मोबाइल एप्लिकेशन को ब्लॉक करें। अपना मोबाइल वापस मिलने पर आप उन्हें अनब्लॉक कर सकते हैं।

See also  मानसून में देरी: बारिश के कारण देश के बड़े हिस्से में खरीफ की बुवाई पिछड़ी, दलहन तिलहन और कपास की खेती खराब

पाना व्यापार समाचार हिंदी में, नवीनतम भारत समाचार हिंदी में, और शेयर बाजार पर अन्य ब्रेकिंग न्यूज, निवेश योजना और फाइनेंशियल एक्सप्रेस पर बहुत कुछ। हुमे पसंद कीजिए फेसबुक, हमारा अनुसरण इस पर कीजिये ट्विटर नवीनतम वित्तीय समाचार और शेयर बाजार अपडेट के लिए।