मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज को फॉर्च्यून ग्लोबल 500 की 2021 की सूची में पहली 100 कंपनियों की सूची से बाहर कर दिया गया है।

फोट्यून 500 ग्लोबल लिस्ट में मुकेश अंबानी की कंपनी RIL फिसली: देश के सबसे अमीर उद्योगपति मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज (आरआईएल) फॉर्च्यून ग्लोबल 500 की सूची में 59 स्थान नीचे खिसक गई है और शीर्ष 100 कंपनियों की श्रेणी से बाहर हो गई है। वर्ष 2020 के दौरान, फोट्यून 500 ग्लोबल लिस्ट में आरआईएल की रैंकिंग 96 थी, जो 2021 में गिरकर 155 हो गई है। हालांकि, इस अवधि के दौरान राज्य द्वारा संचालित बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) की रैंकिंग में 16 स्थानों का सुधार हुआ है।

सोमवार को जारी फॉर्च्यून ग्लोबल 500 सूची में रिलायंस की रैंकिंग में भारी गिरावट के लिए COVID-19 महामारी को जिम्मेदार माना जा रहा है। कंपनी की 155वीं रैंकिंग 2017 के बाद से इसकी सबसे कमजोर रैंकिंग है।

वॉलमार्ट लगातार 8वें साल शीर्ष पर रहा

इस बार भी अमेरिकी कंपनी वॉलमार्ट 524 अरब अमेरिकी डॉलर के राजस्व के साथ फॉर्च्यून ग्लोबल 500 की सूची में शीर्ष पर है। वॉलमार्ट लगातार 8वें साल इस लिस्ट में टॉप पर है। कंपनी ने 1995 के बाद से 16वीं बार यह उपलब्धि हासिल की है।

384 अरब अमेरिकी डॉलर की कमाई करने वाली चीनी कंपनी स्टेट ग्रिड इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर है। इसकी तुलना में फॉर्च्यून ग्लोबल 500 लिस्ट के मुताबिक रिलायंस इंडस्ट्रीज का रेवेन्यू 25.3 फीसदी गिरकर 63 अरब डॉलर पर आ गया। जिससे कंपनी की रैंकिंग में भारी गिरावट आई है।

See also  TCS Q4 परिणाम: TCS लाभ 14.9% से 9,246 करोड़ रुपये, राजस्व में 9.4% की वृद्धि

अमेज़न तीसरे स्थान पर

इस 2021 फॉर्च्यून ग्लोबल 500 लिस्ट में 280 अरब डॉलर की आय के साथ अमेरिकी कंपनी अमेजन तीसरे नंबर पर है। चौथे नंबर पर चीनी कंपनी नेशनल पेट्रोलियम और पांचवें नंबर पर सिंगापुर की सिनोपेक ग्लोबल रही।

इस सूची में शामिल अन्य भारतीय कंपनियों में इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (IOC) की रैंकिंग 61 स्थान गिरकर 212 पर आ गई। हालांकि, भारतीय स्टेट बैंक पिछले साल से 16 स्थान ऊपर, 205 वें स्थान पर पहुंचने में सफल रहा है। स्टेट बैंक ने लगातार दूसरे साल अपनी रैंकिंग में सुधार किया है। पिछले साल भी उनकी रैंकिंग में 15 स्थान का सुधार हुआ था।

इस सूची को तैयार करने वाली अंतरराष्ट्रीय पत्रिका फॉर्च्यून के अनुसार 31 मार्च 2021 को या उससे पहले समाप्त हुए कारोबारी वर्ष के दौरान अर्जित कुल आय को कंपनियों की रैंकिंग का आधार बनाया गया है।

(इनपुट: पीटीआई)

पाना व्यापार समाचार हिंदी में, नवीनतम भारत समाचार हिंदी में, और शेयर बाजार, निवेश योजना और फाइनेंशियल एक्सप्रेस हिंदी पर अन्य ब्रेकिंग न्यूज। हुमे पसंद कीजिए फेसबुक, पर हमें का पालन करें ट्विटर नवीनतम वित्तीय समाचार और शेयर बाजार अपडेट के लिए।