सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि केंद्र सरकार असंगठित क्षेत्र के मजदूरों के पंजीकरण के लिए तत्काल एक पोर्टल बनाए।

सुप्रीम कोर्ट ने एक राष्ट्र, एक राशन कार्ड योजना को 31 जुलाई तक लागू करने का आदेश देते हुए प्रवासी मजदूरों के प्रति सरकार की ढिलाई और ढुलमुल रवैये की खिंचाई की है. कोर्ट ने प्रवासी मजदूरों के पंजीकरण के लिए पोर्टल बनाने में केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्रालय के प्रति दिखाई गई उदासीनता और ढुलमुल रवैये की कड़ी आलोचना की है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि मंत्रालय, राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (एनआईसी) के परामर्श से प्रवासी मजदूरों के पंजीकरण के लिए एक पोर्टल बनाने की प्रक्रिया 31 जुलाई तक पूरी कर ले।

कोर्ट ने कहा, असंगठित क्षेत्र के सभी कामगारों का पंजीकरण जल्द किया जाए.

कोर्ट ने कहा है कि असंगठित क्षेत्र के सभी कामगारों का रजिस्ट्रेशन जल्द से जल्द किया जाए. सरकार यह काम 31 दिसंबर 2021 से पहले पूरा कर ले। कोर्ट का मानना ​​है कि कोरोना महामारी के दौरान सरकार द्वारा उठाए गए कल्याणकारी कदमों का लाभ उठाने के लिए यह पोर्टल जरूरी है। न्यायमूर्ति अशोक भूषण की पीठ ने कहा कि सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को सभी कंपनियों और ठेकेदारों को पंजीकृत करने का निर्देश दिया गया है. साथ ही सभी ठेकेदारों के लिए यह भी अनिवार्य किया जाए कि वे यहां काम करने वाले सभी प्रवासी मजदूरों का पूरा ब्योरा दें।

कोर्ट ने पोर्टल नहीं बनाने पर सरकार को फटकारा

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि असंगठित और प्रवासी मजदूरों के लिए पोर्टल न बनाकर सरकार ने साबित कर दिया है कि उसे प्रवासी मजदूरों की चिंता नहीं है. लेकिन सरकार की इस बेरुखी की इजाजत नहीं दी जा सकती. कोर्ट ने केंद्र से राज्यों को अतिरिक्त राशन उपलब्ध कराने को कहा। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना (पीएमजीकेएवाई) के तहत लाभार्थियों को पांच किलो अनाज मुफ्त दिया जाता है। कोर्ट ने कहा है कि महामारी को देखते हुए गरीबों की खाद्य सुरक्षा की गारंटी देना बेहद जरूरी है.

READ  खराब आर्थिक हालात के बावजूद प्रत्यक्ष कर संग्रह दोगुना, 1.85 लाख करोड़ रुपये के पार

प्राप्त व्यापार समाचार हिंदी में, नवीनतम भारत समाचार हिंदी में, और शेयर बाजार, निवेश योजना और फाइनेंशियल एक्सप्रेस पर अन्य ब्रेकिंग न्यूज। हुमे पसंद कीजिए फेसबुक, पर हमें का पालन करें ट्विटर नवीनतम वित्तीय समाचार और शेयर बाजार अपडेट के लिए।