पेटीएम ने कहा है कि कोरोना संक्रमण के कारण उसका मर्चेंट बिजनेस प्रभावित हुआ है।

आईपीओ की तैयारी कर रही ऑनलाइन पेमेंट एप पेटीएम की पैरेंट कंपनी वन97 कम्युनिकेशन लिमिटेड ने वित्त वर्ष 2020-21 में रेवेन्यू में 14 फीसदी की कमी की है लेकिन इसका घाटा घटकर 1701 करोड़ रुपये रह गया है। वित्त वर्ष 2019-20 के दौरान कंपनी को 2942 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था। कंपनी ने अपने शेयरधारकों को सालाना रिपोर्ट भेजी है। चीन की अलीबाबा और जापान की सॉफ्टबैंक समर्थित वन97 कम्युनिकेशन लिमिटेड अपना आईपीओ लाने की तैयारी कर रही है। अगले महीने तक वह सेबी के पास अपना डीआरएचपी दाखिल कर सकता है। पेटीएम की स्थापना विजय शेखर शर्मा ने की थी। आज यह भारत की सबसे महत्वपूर्ण कंपनियों में से एक है। इस स्टार्ट-अप का कुल मूल्यांकन 16 अरब डॉलर है।

छूट, कैशबैक और प्रचार पर कम खर्च के कारण नियंत्रित नुकसान Los

कंपनी का राजस्व लगातार दूसरे साल सपाट रहा है। हालांकि, डिस्काउंट, कैशबैक और प्रमोशन पर खर्च कम करने से कंपनी को अपना घाटा कम करने में मदद मिली है। कंपनी का मार्केटिंग और प्रमोशन खर्च 61 फीसदी घटकर 532 करोड़ रुपये रह गया है। एक साल पहले यह 1397 करोड़ रुपये था। कंपनी का कुल खर्च घटकर 4783 करोड़ रुपये रह गया है। जबकि पिछले साल यह 6138 करोड़ रुपये थी। पेटीएम लगातार अपने घाटे को कम करने की कोशिश कर रहा है। पेटीएम का कहना है कि कोरोना संक्रमण से उसका मर्चेंट बिजनेस प्रभावित हुआ है, लेकिन इससे राजस्व को ज्यादा नुकसान नहीं हुआ है।

READ  बीसीसीआई ने डब्ल्यूटीसी फाइनल और इंग्लैंड टेस्ट के लिए टीम की घोषणा की, शॉ को आईपीएल के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के बावजूद जगह नहीं मिली

कोरोना की दूसरी लहर, मई में घटी सरकार का जीएसटी कलेक्शन

पेटीएम ला सकता है 22,500 करोड़ का आईपीओ

न्यूज एजेंसी ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के मुताबिक पेटीएम का आईपीओ 30 करोड़ डॉलर यानी करीब 22,500 करोड़ रुपये का हो सकता है। यानी कंपनी आईपीओ के जरिए बाजार से 22500 करोड़ रुपये जुटाना चाहती है। इसके बाद इसका मूल्यांकन बढ़कर 25-30 मिलियन डॉलर यानी 2.25 लाख करोड़ रुपये होने का अनुमान है। इस साल दिवाली तक पेटीएम का आईपीओ आ सकता है। अगर ऐसा होता है तो यह दिवाली प्राइमरी मार्केट के निवेशकों के लिए धमाकेदार हो सकती है।

प्राप्त व्यापार समाचार हिंदी में, नवीनतम भारत समाचार हिंदी में, और शेयर बाजार पर अन्य ब्रेकिंग न्यूज, निवेश योजना और फाइनेंशियल एक्सप्रेस पर बहुत कुछ। हुमे पसंद कीजिए फेसबुक, पर हमें का पालन करें ट्विटर नवीनतम वित्तीय समाचार और शेयर बाजार अपडेट के लिए।