पीएम किसान सम्मान निधिपीएम किसान सम्मान निधि: 14 मई को पीएम किसान सम्मान निधि में पंजीकृत 9.5 करोड़ से अधिक किसानों के खाते में सरकार 19000 करोड़ रुपये डालने जा रही है.

पीएम किसान सम्मान निधि: अब तक प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के तहत किसानों को 2000-2000 रुपये की 7 किस्तें भेजी जा चुकी हैं. योजना के तहत आठवीं किस्त शुरू होने जा रही है। सरकार 14 मई को लाभार्थी सूची में शामिल किसानों के खाते में किस्तें डालेगी। सरकार शुक्रवार, 14 मई को पीएम किसान सम्मान निधि में पंजीकृत 9.5 करोड़ से अधिक किसानों के खाते में 19000 करोड़ रुपये डालने जा रही है। यह इस योजना के तहत 1 दिन में भुगतान की गई सबसे बड़ी राशि है। लेकिन अगर आवेदन में देरी हो रही है या इसमें कोई दिक्कत है तो इसका फायदा नहीं मिल पाएगा। इसलिए बेहतर होगा कि आप समय रहते अपना स्टेटस चेक कर लें। वहीं अगर किसी कमी के कारण यह किस्त नहीं मिल पाती है तो इसके लिए भी सरकार ने गलती सुधारने के उपाय किए हैं.

बता दें कि केंद्र सरकार ने छोटे और सीमांत किसानों को आर्थिक मदद देने के लिए प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि नाम से एक योजना चलाई है. इस योजना के तहत पात्र किसानों को हर साल 3 किस्तों में 6000 रुपये दिए जा रहे हैं। इसके लिए सभी जानकारी सरकारी वेबसाइट pmkisan.gov.in पर दी गई है। इस योजना के तहत अब तक किसानों को 2000 रुपये की 7 किस्तें मिल चुकी हैं। अब आठवीं किस्त आ रही है। पिछली बार 25 दिसंबर, 2020 को 9 करोड़ किसानों के खाते में करीब 18000 करोड़ रुपए ट्रांसफर किए गए थे।

READ  पोस्ट ऑफिस MIS: पोस्ट ऑफिस की इस स्कीम में हर महीने खाते में पैसा आएगा, जानिए कितना मिलेगा फायदा

लिस्ट में आपका नाम है या नहीं?

अगर आपने भी इस योजना के लिए रजिस्ट्रेशन कराया है और जानना चाहते हैं कि आपको अगली किस्त मिलेगी या नहीं तो आप पीएम किसान पोर्टल (https://pmkisan.gov.in) के माध्यम से यह जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। इसके साथ ही अब तक नाम दर्ज नहीं कराने की स्थिति में भी आप शिकायत दर्ज करा सकते हैं. यदि आपका नाम इस योजना के लाभार्थियों की अद्यतन सूची में सूचीबद्ध होगा, तभी आपको इस योजना का लाभ मिलेगा।

सबसे पहले आपको पीएम किसान योजना की आधिकारिक वेबसाइट https://pmkisan.gov.in पर जाना होगा।
वेबसाइट खोलने के बाद मेन्यू बार देखें और यहां ‘किसान कॉर्नर’ पर जाएं।
‘लाभार्थी सूची’ के लिंक पर क्लिक करें।
अपना राज्य, जिला, उप-जिला, ब्लॉक और गांव का विवरण दर्ज करें।
इसके बाद आपको Get Report पर क्लिक करना है, जिसके बाद आपको जानकारी मिल जाएगी।
जिन किसानों को इस योजना का लाभ दिया गया है उनके नाम राज्य/जिलावार/तहसील/गांव के अनुसार भी देखे जा सकते हैं.

नाम नहीं तो

अगर आपका नाम अपडेटेड लिस्ट में नहीं है तो आप पीएम किसान के हेल्पलाइन नंबर पर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं।

पीएम किसान हेल्पलाइन – 155261

पीएम किसान टोल फ्री – 1800115526

पीएम किसान लैंड लाइन नंबर: 011-23381092, 23382401

इसके अलावा कोई मेल आईडी pmkisan-ict@gov.in पर ईमेल भी कर सकता है।

पता नहीं क्या करें किश्त

आवेदन के बाद यदि किसी लाभार्थी का नाम राज्य/केंद्र शासित प्रदेश सरकार द्वारा पीएम किसान पोर्टल पर अपलोड किया गया है तो किस्त न मिलने पर भी नुकसान नहीं होगा। जिसके चलते किस्त रोक दी गई है, गलती सुधार कर डीयू के पूरे खाते में भेज दी जाएगी. लेकिन अगर किसी कारण से किसान का नाम सरकार द्वारा खारिज कर दिया जाता है, तो वह पात्र नहीं होगा। किस्त में देरी के कई कारण हो सकते हैं, जैसे पंजीकरण में गलत नाम, पता या बैंक खाते की जानकारी देना। इसमें सुधार करना जरूरी है। pmkisan.gov.in पर जाकर किसान कॉर्नर पर क्लिक करने के बाद लाभार्थी की स्थिति पर क्लिक करें। जिसके बाद वहां आधार नंबर, अकाउंट नंबर और फोन नंबर का ऑप्शन दिखाई देगा। यहां आप देख सकते हैं कि आपकी जानकारी सही है या नहीं।

READ  IPO Market: IPO से पहले ही ग्रे मार्केट में श्याम मेटल्स के शेयर 43 फीसदी चढ़े, क्या करें निवेश

प्राप्त व्यापार समाचार हिंदी में, नवीनतम इंडिया न्यूज हिंदी में, और शेयर बाजार, निवेश योजना और फाइनेंशियल एक्सप्रेस हिंदी पर बहुत कुछ अन्य ब्रेकिंग न्यूज। हुमे पसंद कीजिए फेसबुक, पर हमें का पालन करें ट्विटर नवीनतम वित्तीय समाचार और शेयर बाजार अपडेट के लिए।