पहली नौकरी के बाद से बचत और निवेश शुरू करें, यहां जानिए पहली बार कमाने वाले के लिए कुछ बचत और निवेश युक्तियाँनिवेश का एक आसान सा फंडा है कि आप जितनी जल्दी निवेश करना शुरू करेंगे, भविष्य उतना ही सुरक्षित होगा। जल्दी निवेश करके आप लंबी अवधि के लिए निवेश करके अधिक पूंजी बना सकते हैं।

पहली बार कमाने वाले के लिए बचत और निवेश युक्तियाँ: पहली नौकरी की शुरुआत के साथ ही कुछ लोग अपनी जरूरतों को पूरा करने को प्राथमिकता देते हैं। कभी-कभी खर्च करने की इस आदत के कारण बचत भी नहीं हो पाती है और भविष्य में अचानक आर्थिक समस्या आने पर इसका पता चल जाता है। ऐसे में जरूरी है कि आप अपनी पहली नौकरी की शुरुआत के साथ ही बचत और निवेश की शुरुआत करें।

कम उम्र में निवेश शुरू करने का फायदा यह है कि जब वित्तीय जिम्मेदारियां बढ़ जाती हैं, तो आपको पैसे की समस्या नहीं होती है। निवेश का एक आसान सा फंडा है कि आप जितनी जल्दी निवेश करना शुरू करेंगे, भविष्य उतना ही सुरक्षित होगा। जल्दी निवेश करके आप लंबी अवधि के लिए निवेश करके अधिक पूंजी बना सकते हैं। ऐसे में बेहतर होगा कि आप पहले काम से ही शुरुआत करें।

सेवानिवृत्ति योजना: सेवानिवृत्ति योजना में मुद्रास्फीति के प्रभाव को ध्यान में रखें, क्या शेयरों में निवेश मुद्रास्फीति से बचने का तरीका हो सकता है?

इन बातों का रखें ख्याल

  • अपने खर्चों को नियंत्रित करने के लिए समय-समय पर अपने बैंक स्टेटमेंट की निगरानी करें। इससे अनावश्यक खर्चों को नियंत्रित करने में मदद मिल सकती है।
  • पहली नौकरी के साथ कई लोगों को पहली बार क्रेडिट कार्ड मिलता है और वे इसे जादू के चिराग की तरह इस्तेमाल करते रहते हैं। हालांकि, अगर इसके खर्चों का बिल समय पर नहीं चुकाया गया तो यह जेब पर बहुत भारी पड़ सकता है। ऐसे में जरूरी है कि क्रेडिट कार्ड के बिल का भुगतान समय पर किया जाए। हो सके तो आप इसे अकाउंट से ऑटो डेबिट भी करवा सकते हैं ताकि किसी कारणवश भूलने की कोई संभावना न रहे।
  • निवेश को लेकर कुछ लोगों की समस्या यह है कि वे निवेश करना चाहते हैं लेकिन कुछ नहीं बचा है। ऐसी समस्या को दूर करने के लिए पहले बचत, फिर निवेश का फॉर्मूला अपनाना चाहिए। इससे बचत के पैसे को निवेश में इस्तेमाल किया जा सकेगा और कितना खर्च करना है इसकी भी सीमा तय होगी.
See also  अगले हफ्ते से महंगी होंगी टाटा मोटर्स की कारें, कंपनी ने कच्चे माल में बढ़ोतरी को बताया दाम बढ़ाने की वजह

पीपीएफ से लेकर एनएससी तक, ये हैं बेहतरीन सरकारी बचत योजनाएं, जानें हर योजना की खास बातें

  • कुछ पैसा इक्विटी और म्यूचुअल फंड में भी लगाएं। नौकरी की शुरुआत में जोखिम लेने की क्षमता अधिक होती है इसलिए कुछ पैसा इक्विटी में भी लगाना चाहिए। आप इक्विटी में निवेश पर उच्चतम रिटर्न प्राप्त कर सकते हैं। इसके अलावा अगर शुरुआत में शेयर बाजार में निवेश करना डराने वाला है तो आप एसआईपी (सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट फंड) में निवेश कर सकते हैं।
  • कभी भी पूरी पूंजी एक जगह निवेश न करें। हमेशा अपने निवेश पोर्टफोलियो में विविधता लाएं और अपनी पूंजी को इक्विटी, म्यूचुअल फंड, शेयर, गोल्ड और एफडी जैसे विकल्पों में विभाजित करके निवेश करें। इससे यदि बाजार में उतार-चढ़ाव के कारण एक स्थान पर निवेश में कमी आती है तो दूसरे विकल्प में निवेश कर शीघ्र उसकी भरपाई की जा सकती है।
  • पीपीएफ जैसे उपकरणों में भी निवेश करें। इसमें सालाना 1.5 लाख रुपये तक के निवेश पर टैक्स सेविंग की जा सकती है।

पाना व्यापार समाचार हिंदी में, नवीनतम भारत समाचार हिंदी में, और शेयर बाजार, निवेश योजना और फाइनेंशियल एक्सप्रेस पर अन्य ब्रेकिंग न्यूज। हुमे पसंद कीजिए फेसबुक, पर हमें का पालन करें ट्विटर नवीनतम वित्तीय समाचार और शेयर बाजार अपडेट के लिए।