निवेश विविधीकरण रणनीति एक पुरानी कहावत है – सभी अंडे एक टोकरी में नहीं रखने चाहिए। इसी तरह, सभी निवेश एक परिसंपत्ति वर्ग में नहीं किए जाने चाहिए। कई निवेशक अपना सारा पैसा शेयरों या म्यूचुअल फंड में निवेश करते हैं। लेकिन विविधीकरण आपके निवेश में जोखिम को काफी हद तक कम कर देता है। साथ ही, यह लंबी अवधि में आपके रिटर्न को भी बढ़ाता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि प्रत्येक परिसंपत्ति वर्ग की विशेषताएं अलग-अलग होती हैं। इसलिए रिटर्न का पैटर्न भी अलग है। एक निवेशक को अपने पोर्टफोलियो में इक्विटी, निश्चित आय, अचल संपत्ति, सोना और अन्य वस्तुओं का सही संतुलन बनाना चाहिए।

विविधीकरण की प्रक्रिया तार्किक होनी चाहिए। बिना सोचे समझे विविधीकरण किसी काम का नहीं है। विविधीकरण का प्रभाव आपके निवेश में अच्छे प्रदर्शन और परेशानी मुक्त रिटर्न के रूप में दिखना चाहिए। रिटर्न में बहुत ज्यादा उछाल और बहुत ज्यादा गिरावट नहीं होनी चाहिए। रिटर्न में अस्थिरता कम होनी चाहिए जो निवेशक को अच्छी स्थिति में रख सके।

विविधीकरण के लिए प्रमुख परिसंपत्ति वर्ग

विविधीकरण के लिए इक्विटी, निश्चित आय, अचल संपत्ति और वैकल्पिक निवेश प्रमुख परिसंपत्ति वर्ग हो सकते हैं। विविधीकरण का एक अच्छा तरीका म्यूचुअल फंड में निवेश करना हो सकता है। इसमें काफी पारदर्शिता होती है और यह लागत के मामले में सस्ता भी हो सकता है। म्यूचुअल फंड में कई विकल्प उपलब्ध हैं, इसलिए इसका उपयोग एक मजबूत पोर्टफोलियो बनाने के लिए किया जा सकता है। स्टॉक और बॉन्ड के बीच एक नकारात्मक संबंध है।

म्यूचुअल फंड निवेश: म्यूचुअल फंड में निवेश करने से पहले जान लें ये 5 अहम बातें, होंगे फायदे में

READ  Covid-19 Vaccine: 996 रुपये में कोरोना वैक्सीन Sputnik V की एक खुराक, भारत में पहली वैक्सीन

विभिन्न क्षेत्रों में विविधीकरण की रणनीति

विविधीकरण के लिए विभिन्न क्षेत्रों में निवेश की रणनीति भी एक प्रभावी रणनीति है। लेकिन आर्थिक झटके और पोर्टफोलियो री-बैलेंसिंग की लचीली रणनीति के कारण विविधीकरण की रणनीति को मजबूत किया जा सकता है। विविधीकरण के लिए, चक्रीय (वित्तीय सेवाओं और अचल संपत्ति), रक्षात्मक (स्वास्थ्य देखभाल, उपयोगिताओं) और संवेदनशील (ऊर्जा, औद्योगिक) क्षेत्रों में निवेश किया जा सकता है। एक ही उद्योग या बाजार की कंपनियों में अपना सारा निवेश लगाकर आप कभी भी विविधीकरण का लाभ नहीं उठा पाएंगे। हालांकि, यह भी सच है कि आपका पोर्टफोलियो कितना भी विविध क्यों न हो, निवेश जोखिम भरा रहता है। निवेशक के वित्तीय लक्ष्यों और जोखिम प्रोफाइल के अनुसार बेहतर साधनों के बीच पोर्टफोलियो को वितरित करके निवेश विविधीकरण को संरक्षित किया जा सकता है, लेकिन अधिक विविधीकरण से नुकसान भी हो सकता है।

प्राप्त व्यापार समाचार हिंदी में, नवीनतम भारत समाचार हिंदी में, और शेयर बाजार, निवेश योजना और फाइनेंशियल एक्सप्रेस पर अन्य ब्रेकिंग न्यूज। हुमे पसंद कीजिए फेसबुक, पर हमें का पालन करें ट्विटर नवीनतम वित्तीय समाचार और शेयर बाजार अपडेट के लिए।