ऐसे मिडकैप शेयरों की पहचान करें जिनमें मेगा कैप बनने की क्षमता है

निवेश युक्तियाँ:शेयर बाजार में कई ऐसे मिड कैप शेयर हैं, जो कम समय में मेगा कैप बनने की क्षमता रखते हैं। ऐसे शेयर सिर्फ पांच साल में मेगा कैप शेयरों में जा सकते हैं। ऐसे शेयर 40 फीसदी तक का सालाना रिटर्न दे रहे हैं। मोतीलाल ओसवाल ग्रुप के चेयरमैन रामदेव अग्रवाल ने ऐसे मिडकैप शेयरों की पहचान की है और उनमें निवेश करने का फॉर्मूला दिया है, जो भविष्य में मेगाकैप स्टॉक बन सकते हैं और निवेशकों को सुपर रिटर्न दे सकते हैं. बाजार पूंजीकरण के अनुसार शीर्ष 100 शेयरों को मेगा कैप शेयर कहा जाता है। इसके बाद 200 शेयरों को मिड कैप शेयर कहा जाता है और बाकी को मिनी या स्मॉल कैप शेयर कहा जाता है।

मेगा कैप में शामिल करने के लिए 25 से 40 फीसदी की ग्रोथ जरूरी

रामदेव अग्रवाल का कहना है कि टॉप 300 शेयरों में शामिल शेयरों के टॉप 100 शेयरों में पहुंचने के सफर में निवेशकों को जबरदस्त मुनाफा मिल सकता है. हर 5 साल में 13 से 15 कंपनियां मिड से मेगा कैप में स्विच करती हैं। मिडकैप कंपनियों को भी अगर अपनी रैंकिंग बरकरार रखनी है तो उन्हें हर साल 15 फीसदी की ग्रोथ हासिल करनी होगी। यह बेहद मुश्किल है। अगर कोई मिडकैप कंपनी मेगाकैप कंपनियों की कैटेगरी में शामिल है तो उसे 25 से 40 फीसदी से ज्यादा की दर से ग्रोथ करनी होगी.

रिलायंस रिटेल खरीदेगी जस्ट डायल में 40.95 फीसदी हिस्सेदारी, 3497 करोड़ रुपये में हुआ सौदा

READ  शेयर बाजार LIVE न्यूज: सेंसेक्स में 300 अंकों की तेजी; निफ्टी 14800 के पार; HCL Tech Top Gainer, बैंक शेयर खरीदना

मेगा कैप बनने वाली कंपनियों की पहचान करने का ये है तरीका

रामदेव अग्रवाल ने मोतीवाल ओसवाल समूह की 2930 कंपनियों (2016 से मार्च 2021 तक) का अध्ययन किया था। इसमें 100 मेगा शेयर, 200 मिड कैप और 2630 मिनी शेयर शामिल थे। 2630 मिनी कंपनियों में से केवल 32 कंपनियां ही मेगा कैप बनीं और 45 फीसदी रिटर्न दिया। लेकिन उनका स्ट्राइक रेट सिर्फ 2 फीसदी था। इसमें बहुत जोखिम था। इस दौरान 200 मिड-कैप कंपनियों में से 13 मेगा-कैप कंपनियां बन गईं। इन कंपनियों ने 38 फीसदी रिटर्न दिया और उनका स्ट्राइक रेट 6.5 फीसदी रहा। इसमें जोखिम कम था। रामदेव अग्रवाल ने 6 से 7 फीसदी के स्ट्राइक रेट से अच्छा मुनाफा देने वाली स्मॉल कैप कंपनियों की जगह मिड साइज कंपनियों पर फोकस करने को कहा है।

प्राप्त व्यापार समाचार हिंदी में, नवीनतम भारत समाचार हिंदी में, और शेयर बाजार पर अन्य ब्रेकिंग न्यूज, निवेश योजना और फाइनेंशियल एक्सप्रेस पर बहुत कुछ। हुमे पसंद कीजिए फेसबुक, पर हमें का पालन करें ट्विटर नवीनतम वित्तीय समाचार और शेयर बाजार अपडेट के लिए।