उच्च ब्याज दर FD : सावधि जमा पर ब्याज दरों में लगातार कमी आ रही है। बैंक एफडी हो या पोस्ट ऑफिस टर्म स्कीम या किसान विकास पत्र जैसी फिक्स्ड इनकम स्कीम, सभी की ब्याज दरों में हाल के दिनों में कमी आई है। बैंक एफडी पर ब्याज दरें घटकर पांच से छह फीसदी हो गई हैं। लेकिन श्रीराम ट्रांसपोर्ट फाइनेंस कंपनी ( STFC) और श्रीराम सिटी यूनियन फाइनेंस लिमिटेड FD पर 7.75 प्रतिशत तक की ब्याज दर की पेशकश कर रहे हैं। यह सुकन्या समृद्धि योजना ( SSY) राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र (NSC) और किसान विकास पत्र (KVB) पर मिलने वाले ब्याज से अधिक है। श्री राम ट्रांसपोर्ट फाइनेंस कंपनी ( STFC) और श्रीराम सिटी यूनियन फाइनेंस लिमिटेड दोनों पांच साल की FD पर 7.75 प्रतिशत ब्याज दे रहे हैं। वहीं, संचयी जमा पर यह ब्याज दर बढ़कर 9.05 प्रतिशत हो जाएगी।

पीपीएफ, सुकन्या समृद्धि और एनएससी से ज्यादा ब्याज

इस तरह से देखा जाए तो एसटीएफसी और श्रीराम सिटी की एफडी पर ब्याज दरें पीपीएफ (पब्लिक प्रोविडेंट फंड), सुकन्या समृद्धि योजना (सुकन्या समृद्धि), नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट और किसान विकास पत्र से ज्यादा ब्याज देती हैं। पीपीएफ पर 7.1 फीसदी ब्याज मिल रहा है। सुकन्या समृद्धि योजना, केवीपी और एनएससी पर 7.6 फीसदी की ब्याज दर मिलती है। हालांकि इन छोटी बचत योजनाओं में भी टैक्स बेनिफिट मिलता है।

निवेश टिप्स: एफडी के कम ब्याज से परेशान हैं बैंक तो यहां करें सीनियर सिटीजन पैसा निवेश, सुरक्षा की पूरी गारंटी और महंगाई भी होगी हार

श्रीराम ट्रांसपोर्ट और श्रीराम सिटी की FD में लगातार हो रही बढ़ोतरी

श्रीराम सिटी चेन्नई स्थित एनबीएफसी है जो एसएमई, टू-व्हीलर फाइनेंसिंग, गोल्ड लोन में काम करता है। श्रीराम ट्रांसपोर्ट फाइनेंस कंपनी और श्रीराम सिटी श्रीराम ग्रुप की कंपनियां हैं। जुलाई में श्रीराम ट्रांसपोर्ट फाइनेंस कंपनी ने 2000 करोड़ रुपये की एफडी जुटाई थी। कंपनी के देशभर में 64 लाख ग्राहक हैं। जुलाई 2021 में श्रीराम सिटी ने 390 करोड़ रुपये और एसटीएफसी ने 1610 करोड़ रुपये की एफडी जुटाई। यह दोनों कंपनियों की अब तक की सबसे ज्यादा FD है। वित्त वर्ष 2021-22 की पहली तिमाही में श्रीराम सिटी की रिटेल एफडी 33 फीसदी बढ़कर 5,761 करोड़ रुपये पर पहुंच गई। वहीं, श्रीराम ट्रांसपोर्ट फाइनेंस कंपनी की ओर से जुटाई गई एफडी 49 फीसदी बढ़कर 17,903 करोड़ रुपये पर पहुंच गई।

See also  जॉब रिवाइवल: कॉरपोरेट कंपनियों की हायरिंग में तेजी, आईटी, रिटेल समेत सर्विस सेक्टर के कई उद्योगों में नौकरियां बढ़ने लगी हैं

पाना व्यापार समाचार हिंदी में, नवीनतम भारत समाचार हिंदी में, और शेयर बाजार, निवेश योजना और फाइनेंशियल एक्सप्रेस पर अन्य ब्रेकिंग न्यूज। हुमे पसंद कीजिए फेसबुक, पर हमें का पालन करें ट्विटर नवीनतम वित्तीय समाचार और शेयर बाजार अपडेट के लिए।