शेयर बाजार में निवेश करते समय कुछ बुनियादी बातों का ध्यान रखना बहुत जरूरी है।

बेहतर रिटर्न के लिए निवेश कैसे करें: शेयर बाजार में निवेश करने का पहला कदम ऐसे शेयरों को चुनना है जो लंबी अवधि में अच्छा रिटर्न देने की संभावना रखते हैं। सिर्फ इधर-उधर की अफवाहों या सुझावों के आधार पर ऐसे शेयरों की पहचान करना ठीक नहीं है। यदि आप कम से कम जोखिम वाले बाजार से बेहतर रिटर्न प्राप्त करना चाहते हैं, तो आपको कुछ फिल्टर या मानदंड पर नजर रखनी होगी। आइए जानते हैं कौन से हैं वो अहम मापदंड, जिन पर ध्यान देकर आप सही स्टॉक का चुनाव कर सकते हैं।

बेहतर रिटर्न के लिए स्टॉक चुनते समय आपको उन शेयरों पर ध्यान देना चाहिए, जिनमें ये चार विशेषताएं हों।

1. अच्छी गुणवत्ता वाले स्टॉक जिनकी कीमत वर्तमान में कम है

एक अच्छी गुणवत्ता वाले स्टॉक का पहला मानदंड निवेश की सुरक्षा है। यानी ऐसी कंपनी जिसकी वित्तीय स्थिति और हाल के वर्षों का प्रदर्शन अच्छा हो। निवेश सुरक्षा के लिहाज से, कम से कम 500 करोड़ रुपये के बाजार पूंजीकरण वाली कंपनी पर ध्यान केंद्रित करना एक अच्छी रणनीति साबित हो सकती है। इसके अलावा पीईजी यानी स्टॉक का प्राइस-अर्निंग टू ग्रोथ रेशियो एक से कम होना चाहिए। यह कंपनी के शेयरों का सही मूल्यांकन दिखाता है।

2. अच्छा लाभांश भुगतान करने वाले स्टॉक

निवेश के लिए बेहतर स्टॉक चुनने का एक और मानदंड अच्छा लाभांश हो सकता है। लाभांश का अर्थ है लाभ का वह भाग जो कंपनी अपने शेयरधारकों को वितरित करती है। लगातार लाभांश न केवल शेयरधारक को निवेश पर प्रत्यक्ष लाभ देता है, बल्कि कंपनी के अच्छे वित्तीय स्वास्थ्य को भी दर्शाता है। निवेश करने से पहले कंपनी का पिछले 5 साल का डिविडेंड देने का रिकॉर्ड देखना चाहिए। साथ ही कंपनी का डिविडेंड-पे-आउट रेशियो 40 फीसदी से कम हो तो बेहतर है। क्योंकि इससे पता चलता है कि कंपनी अपने मुनाफे का एक हिस्सा बांटने के बाद बची हुई रकम को भी कारोबार के विस्तार में लगा देती है।

READ  नजारा टेक्नोलॉजीज: राकेश झुनझुनवाला की निवेश कंपनी ने प्रत्येक शेयर पर 79% लाभ, लिस्टिंग पर समृद्ध बनाया

3. शेयर जिन्हें बुक वैल्यू पर अच्छा डिस्काउंट मिल रहा है

यदि कोई स्टॉक उपरोक्त दोनों मानदंडों को पूरा कर रहा है, तो तीसरी बात यह है कि उसका ‘डिस्काउंट-टू-बुक वैल्यू’ है। अगर कंपनी मजबूत दिख रही है और अन्य सभी मामलों में बेहतर भविष्य के साथ, फिर भी उसके शेयर बुक वैल्यू से कम कीमत पर मिल रहे हैं, तो उसे आगे चलकर अच्छा रिटर्न मिल सकता है। ऐसे स्टॉक में यह भी देखना चाहिए कि उसका डेट-इक्विटी अनुपात 1.5 से कम हो और नेटवर्थ पर रिटर्न हाल के वर्षों में 10 प्रतिशत से अधिक रहा हो।

4. अच्छी वृद्धि क्षमता वाले और उचित मूल्य वाले स्टॉक

सर्वोत्तम स्टॉक के चयन के लिए यह एक महत्वपूर्ण मानदंड भी हो सकता है। सवाल यह है कि अच्छी विकास क्षमता और उचित मूल्य का अंदाजा कैसे लगाया जाए। यदि मौलिक रूप से मजबूत स्टॉक का पी/ई (मूल्य-से-आय अनुपात) 15 से कम है, तो कीमत को आम तौर पर उचित माना जा सकता है। पिछले 5 वर्षों में कंपनी की आय वृद्धि कम से कम 20 प्रतिशत होनी चाहिए। वर्ष-दर-वर्ष आधार पर, पिछली तिमाही की आय वृद्धि और पिछले 12 महीनों की पिछली आय वृद्धि भी कम से कम समान यानी 20 प्रतिशत होनी चाहिए।

इन सभी मानदंडों को पूरा करने वाला स्टॉक आने वाले दिनों में कम जोखिम के साथ अच्छा रिटर्न देने वाला साबित हो सकता है। हालांकि, ध्यान रखें कि यहां बताई गई चीजें निवेश के टिप्स नहीं हैं। इन मानदंडों को बेहतर निवेश करने के लिए पालन की जाने वाली कुछ बुनियादी बातों में शामिल किया गया है। इनके अलावा स्टॉक से जुड़ी खबरों, संबंधित उद्योग की स्थिति और पूरी अर्थव्यवस्था को प्रभावित करने वाली राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय स्थिति पर भी नजर रखना जरूरी है।

READ  राकेश झुनझुनवाला ने VIP इंडस्ट्रीज में 3% हिस्सेदारी बेची, इन कंपनियों ने भी Q4 में शेयरों को कम किया

प्राप्त व्यापार समाचार हिंदी में, नवीनतम भारत समाचार हिंदी में, और शेयर बाजार पर अन्य ब्रेकिंग न्यूज, निवेश योजना और फाइनेंशियल एक्सप्रेस पर बहुत कुछ। हुमे पसंद कीजिए फेसबुक, पर हमें का पालन करें ट्विटर नवीनतम वित्तीय समाचार और शेयर बाजार अपडेट के लिए।