2021 के पहले तीन महीनों के दौरान देश में आवास संपत्ति की कीमतों में गिरावट आई है।

आवास संपत्ति मूल्य: इस साल जनवरी से मार्च के बीच देश में हाउसिंग प्रॉपर्टी की कीमतों में कमी आई है। वर्ष 2020 के जनवरी-मार्च की तुलना में 2021 की जनवरी-मार्च अवधि में देश में घरों की कीमतों में 1.6 प्रतिशत की गिरावट आई है। आवास संपत्ति की कीमतों में वृद्धि के मामले में भी भारत की वैश्विक रैंकिंग बहुत कम है। इस रैंकिंग में भारत 55वें नंबर पर है। रैंकिंग में 56 देशों में आवास संपत्ति की कीमतें शामिल हैं।

तुर्की में आवास संपत्ति की कीमतों में सबसे ज्यादा वृद्धि

प्रॉपर्टी कंसल्टेंट फर्म नाइट फ्रैंक के मुताबिक, तुर्की में घरों के दाम सबसे ज्यादा बढ़े हैं। जनवरी-मार्च 2021 में यहां इसकी कीमतों में 32 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। कीमतों में बढ़ोतरी के आधार पर बनाई गई रैंकिंग में यह सबसे ऊपर है। भारत को सिर्फ एक स्थान की बढ़त मिली है. पिछले साल यह 56वें ​​नंबर पर था लेकिन इस साल 55वें नंबर पर पहुंच गया. इससे नीचे सिर्फ स्पेन है. संपत्ति सलाहकार फर्म नाइट फ्रैंक ने गुरुवार को अपनी शोध रिपोर्ट ‘ग्लोबल हाउस प्राइस इंडेक्स – क्यू1 2021’ जारी की। इसमें 56 देशों के प्रमुख बाजारों में संपत्ति की कीमतों के आधार पर रैंकिंग की जाती है।

बुढ़ापे में कमा सकते हैं अपना घर, रिवर्स मॉर्टगेज लोन योजना से दूर होगी पैसों की कमी

भारत और स्पेन सबसे खराब

तुर्की में घरों के सबसे ज्यादा दाम बढ़े। यहां इनकी कीमतों में 32 फीसदी का इजाफा हुआ। इसके बाद न्यूजीलैंड में घरों की कीमत में 22.1 फीसदी की बढ़ोतरी हुई। लक्जमबर्ग में यह वृद्धि 16.6 प्रतिशत थी। सबसे खराब स्थिति भारत और स्पेन के थे। भारत 2021 की पहली तिमाही में 12 पायदान फिसलकर 55वें स्थान पर आ गया है। 2020 में जनवरी-मार्च के दौरान यह 43वें नंबर पर था। जनवरी से मार्च 2021 के बीच आवासीय संपत्ति की कीमतों में केवल 1.4 प्रतिशत की वृद्धि हुई। रिपोर्ट में कहा गया है कि 2005 के बाद से घरों की कीमतों में सबसे ज्यादा बढ़ोतरी अमेरिका में 13.2 फीसदी रही है। नाइट फ्रैंक इंडिया के अध्यक्ष और एमडी शिशिर बैजल ने कहा कि 2021 की पहली तिमाही में बिक्री की मात्रा में अच्छी वृद्धि देखी गई। इससे मकानों के दाम स्थिर रहे।

READ  एचयूएल, आईटीसी, एमएंडएम, बंधन बैंक, डालमिया भारत; निवेश पर ग्लोबल ब्रोकरेज हाउस की सलाह क्या है

प्राप्त व्यापार समाचार हिंदी में, नवीनतम भारत समाचार हिंदी में, और शेयर बाजार पर अन्य ब्रेकिंग न्यूज, निवेश योजना और फाइनेंशियल एक्सप्रेस पर बहुत कुछ। हुमे पसंद कीजिए फेसबुक, पर हमें का पालन करें ट्विटर नवीनतम वित्तीय समाचार और शेयर बाजार अपडेट के लिए।