सुनंदा पुष्कर मौत मामले में दिल्ली की अदालत ने शशि थरूर को खरीदाराष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के एक पांच सितारा होटल में करीब सात साल पहले सुनंदा पुष्क की मौत के मामले में अदालत ने शशि थरूर को बरी कर दिया है. (छवि- पीटीआई)

कांग्रेस के वयोवृद्ध नेता और लोकसभा सांसद शशि थरूर को उनकी पत्नी सुनंदा पुष्कर की हत्या के मामले में आज 18 अगस्त को दिल्ली कोर्ट से बड़ी राहत मिली है. दिल्ली की अदालत ने करीब सात साल पहले राष्ट्रीय राजधानी के एक पांच सितारा होटल में सुनंदा पुष्कर की मौत के मामले में थरूर को बरी कर दिया है. इस सवाल पर कोर्ट का फैसला आया है कि क्या इस मामले में शशि थरूर के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज किया जाना चाहिए?

पूरे महीने वोडाफोन आइडिया का नंबर चालू रखना 61 फीसदी महंगा, एसएमएस भेजने के लिए ये हैं मिनिमम रिचार्ज के नियम

करीब सात साल पहले सुनंदा पुष्कर का निधन हो गया था

सुनंदा पुष्कर 17 जनवरी 2014 को दिल्ली के एक फाइव स्टार होटल में मृत पाई गई थीं। दिल्ली पुलिस के मुताबिक इस मामले में कांग्रेस सांसद शशि थरूर मुख्य आरोपी थे और वह इस मामले में जमानत पर बाहर थे. दिल्ली पुलिस ने अपने आरोप पत्र में थरूर को आईपीसी की धारा 498-ए (पति या पति के रिश्तेदार द्वारा प्रताड़ना) और धारा 306 (आत्महत्या के लिए उकसाना) के तहत आरोपी के रूप में नामित किया है। दिल्ली पुलिस ने साल 2015 में थरूर के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी। तीन साल बाद 2018 में उनके खिलाफ धारा 306 और 498ए के तहत आरोपी बनाया गया था।

See also  मुकुल रॉय स्वदेश लौटे, ममता बनर्जी से मिलने कोलकाता के तृणमूल भवन पहुंचे

मामले की सुनवाई पिछले महीने भी हुई थी

इस मामले की सुनवाई पिछले महीने 27 जुलाई को भी हुई थी. हालांकि अभियोजन पक्ष यानी थरूर ने मामले से जुड़े अतिरिक्त दस्तावेज जमा कराने की अपील की थी, जिसके बाद अदालत ने फैसला आज 18 अगस्त तक के लिए टाल दिया. विशेष न्यायाधीश गीतांजलि गोयल ने अतिरिक्त दस्तावेज जमा करने की अनुमति देते हुए कहा कि इसके बाद इस मामले में किसी भी आवेदन पर विचार नहीं किया जाएगा। इस साल मार्च में थरूर ने अदालत को बताया कि पुष्कर के परिवार और दोस्तों ने आत्महत्या करने की बात स्वीकार नहीं की है. ऐसे में थरूर की परिषद ने अदालत से अपील की कि जब सुनंदा पुष्कर की मौत आत्महत्या से नहीं हुई तो थरूर के खिलाफ सभी आरोप हटा दिए जाएं क्योंकि यहां उकसाने का कोई मामला नहीं है.

पाना व्यापार समाचार हिंदी में, नवीनतम भारत समाचार हिंदी में, और शेयर बाजार, निवेश योजना और फाइनेंशियल एक्सप्रेस पर अन्य ब्रेकिंग न्यूज। हुमे पसंद कीजिए फेसबुक, पर हमें का पालन करें ट्विटर नवीनतम वित्तीय समाचार और शेयर बाजार अपडेट के लिए।