टाटा मोटर्स स्टॉक्सTata Motors Stocks: दिग्गज निवेशक राकेश झुनझुनवाला के पोर्टफोलियो में टाटा मोटर्स के शेयर 19 मई को बिकवाली करते दिख रहे हैं.

टाटा मोटर्स स्टॉक्स: दिग्गज निवेशक राकेश झुनझुनवाला के पोर्टफोलियो में शामिल टाटा मोटर्स के शेयर 19 मई को बिकवाली करते दिख रहे हैं. टाटा मोटर्स के शेयर आज 4.5 फीसदी गिरकर 312 रुपये पर आ गए हैं. जबकि तिमाही नतीजे वाले दिन मंगलवार को यह 332 रुपये पर बंद हुआ था. दरअसल टाटा मोटर्स को मार्च तिमाही में 7,585 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है। वहीं प्रबंधन ने कहा है कि कोरोना की दूसरी लहर के चलते एक बार फिर बिगड़े हालात से कारोबार प्रभावित हो सकता है. इससे निवेशकों का सेंटीमेंट खराब हुआ है। हालांकि, कुछ ब्रोकरेज हाउस अभी भी स्टॉक आउटलुक को लेकर सकारात्मक हैं।

राकेश झुनझुनवाला के पास 4 करोड़ से ज्यादा शेयर हैं

राकेश झुनझुनवाला की पसंद के शेयरों में टाटा मोटर्स भी शामिल है। कंपनी के बढ़ते आउटलुक को देखते हुए पिछले साल उन्होंने टाटा मोटर्स में भारी निवेश किया था। फिलहाल इस ऑटो कंपनी में उनकी 1.3 फीसदी हिस्सेदारी है। राकेश झुनझुनवाला के पास टाटा मोटर्स के 42,750,000 शेयर हैं, जिनकी मौजूदा कीमत 1,346.6 करोड़ रुपये है।

मार्च तिमाही में घाटा घटा

टाटा मोटर्स को मार्च तिमाही में 7,605 करोड़ रुपये का घाटा हुआ। जबकि एक्सपर्ट को उम्मीद थी कि कंपनी मार्च तिमाही में मुनाफा कमाएगी। हालांकि यह घाटा एक साल पहले की तिमाही के मुकाबले कम है। एक साल पहले इसी तिमाही में टाटा मोटर्स को 9,894 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था। मार्च तिमाही में कंपनी का राजस्व 41.7 प्रतिशत बढ़कर 88,628 करोड़ रुपये हो गया। जबकि पिछले साल इसी तिमाही में कंपनी की आय 62,492 करोड़ रुपये थी।

READ  पेट्रोल डीजल की कीमत आज: चुनाव खत्म होते ही पेट्रोल, डीजल के दाम बढ़ने लगे; लगातार दूसरे दिन महंगा

मार्च 2021 में खत्म हुए पूरे वित्त वर्ष में टाटा मोटर्स को 13,395 करोड़ का शुद्ध घाटा हुआ है। अपने पिछले वित्त वर्ष यानी वित्त वर्ष 2019-20 के दौरान कंपनियों को 11,975 करोड़ रुपये का घाटा हुआ। भारतीय कारोबार उम्मीद से बेहतर रहा है। लेकिन जेएलआर कारोबार का प्रदर्शन उम्मीद से कम रहा है। प्रबंधन ने जेएलआर और भारतीय कारोबार पर सतर्क टिप्पणी की है।

कारोबार पर कोविड-19 का असर

कोरोना की दूसरी लहर के चलते बिगड़ते हालात पर टाटा मोटर्स मैनेजमेंट ने एक बार फिर चिंता जाहिर की है। इससे कंपनी का कारोबार प्रभावित हो सकता है। वित्त वर्ष 2022 की पहली तिमाही में अब तक कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने भारत की मात्रा पर असर दिखाया है। इस दौरान करीब 80 फीसदी डीलरशिप बंद कर दी गई है। अप्रैल में बिक्री में 50 फीसदी की गिरावट आई है। मई 2021 में चिंताएं बढ़ गई हैं। इससे कंपनी के आगे के प्रदर्शन पर असर पड़ सकता है।

ब्रोकरेज हाउस के बारे में क्या कहें

ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल ओसवाल ने शेयर में खरीदारी की सलाह देते हुए 400 रुपये का लक्ष्य रखा है. ब्रोकरेज के मुताबिक, कोविड 19 चिंता का विषय है लेकिन निकट भविष्य में कंपनी को मैक्रो रिकवरी, कंपनी स्पेसिफिक वॉल्यूम/मार्जिन ड्राइवरों से फायदा होगा। ब्रोकरेज हाउस सीएलएसए ने भी टाटा मोटर्स के शेयरों को बाय रेटिंग दी है और 450 रुपये का लक्ष्य रखा है। वहीं गोल्डमैन सैक्स ने टाटा मोटर्स में बिक्री का सुझाव दिया है। शेयर के लिए लक्ष्य को घटाकर 254 रुपये कर दिया गया है।

READ  जापान ओलंपिक 2021: ओलंपिक खेलों में भाग लेने वाले एथलीटों और स्टाफ का जल्द होगा टीकाकरण, पीएम मोदी ने दिए निर्देश

वहीं, यूबीएस ने टाटा मोटर्स को न्यूट्रल रेटिंग देते हुए 360 रुपये का लक्ष्य रखा है। जबकि नोमुरा ने टाटा मोटर्स को साल दर साल कम करने की सलाह दी है और 313 रुपये का लक्ष्य रखा है। ब्रोकरेज हाउस सिटी ने बाय रेटिंग दी है और शेयर के लिए 395 रुपये का लक्ष्य रखा है।

(नोट: हमने यहां कंपनी के प्रदर्शन और ब्रोकरेज हाउस की रिपोर्ट के आधार पर जानकारी दी है। बाजार के अपने जोखिम हैं, इसलिए निवेश करने से पहले विशेषज्ञों की राय लें।)

प्राप्त व्यापार समाचार हिंदी में, नवीनतम भारत समाचार हिंदी में, और शेयर बाजार पर अन्य ब्रेकिंग न्यूज, निवेश योजना और बहुत कुछ फाइनेंशियल एक्सप्रेस हिंदी पर। हुमे पसंद कीजिए फेसबुक, पर हमें का पालन करें ट्विटर नवीनतम वित्तीय समाचार और शेयर बाजार अपडेट के लिए।