जून महीने में जीएसटी संग्रह में बड़ी गिरावट आई है। लगभग आठ महीने के बाद जीएसटी संग्रह 1 लाख करोड़ रुपये से नीचे चला गया है। जून महीने में जीएसटी संग्रह 92,849 करोड़ रुपये रहा। यह पिछले साल के जून (2020) के मुकाबले 2 फीसदी ज्यादा है लेकिन इस साल मई के महीने से कम है। मई महीने में GST कलेक्शन 1.02 लाख करोड़ रुपये रहा.

लगातार आठ महीनों से जीएसटी संग्रह 1 लाख करोड़ रुपये से ऊपर रहा

वित्त मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक जून 2021 में जीएसटी राजस्व 92,849 करोड़ रुपये रहा। इसमें केंद्रीय जीएसटी का हिस्सा 16,424 करोड़ रुपये था, जबकि राज्य जीएसटी का हिस्सा 20,397 करोड़ रुपये था। वहीं, एकीकृत जीएसटी संग्रह 49,079 करोड़ रुपये (आयातित वस्तुओं पर एकत्रित 20,397 करोड़ रुपये का जीएसटी शामिल है) रहा। इससे 6,949 करोड़ रुपये का उपकर जमा हुआ। पिछले आठ महीने से हर महीने जीएसटी संग्रह एक लाख करोड़ रुपये से अधिक था। मई में 1.02 लाख करोड़ रुपये का जीएसटी संग्रह हुआ था। लेकिन जून में यह घटकर 92,849 करोड़ रुपये रह गया।

कोरोना से कम आय वाले परिवार की महिलाओं की हालत सबसे खराब, 10 राज्यों में कराए गए सर्वे में बड़ा खुलासा

लॉकडाउन प्रतिबंधों के कारण व्यावसायिक गतिविधियों का प्रभाव धीमा

मंत्रालय के मुताबिक जून का जीएसटी कलेक्शन मई महीने के कारोबार से आया है। मई में, अधिकांश राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में कोविड की दूसरी लहर को नियंत्रित करने के लिए लॉकडाउन और प्रतिबंध लगाए गए थे। इससे आर्थिक गतिविधियां कम हो गईं। इसका असर जीएसटी संग्रह पर पड़ा है। पिछले महीने महाराष्ट्र, गुजरात, कर्नाटक, तमिलनाडु, दिल्ली जैसे औद्योगिक राज्यों में मैन्युफैक्चरिंग में गिरावट आई थी। देश की कई बड़ी ऑटोमोबाइल कंपनियों ने अपना प्रोडक्शन बंद कर दिया था. इनमें मारुति, हीरो मोटोकॉर्प और महिंद्रा एंड महिंद्रा जैसी कंपनियां शामिल हैं। हालांकि अब इन कंपनियों में मैन्युफैक्चरिंग की रफ्तार ने जोर पकड़ लिया है।

See also  कोविड -19 ड्रग: एली लिली ने नैटको फार्मा के साथ समझौता किया, जिसका उद्देश्य बारिसिटिनिब की उपलब्धता बढ़ाना है

प्राप्त व्यापार समाचार हिंदी में, नवीनतम भारत समाचार हिंदी में, और शेयर बाजार पर अन्य ब्रेकिंग न्यूज, निवेश योजना और फाइनेंशियल एक्सप्रेस पर बहुत कुछ। हुमे पसंद कीजिए फेसबुक, पर हमें का पालन करें ट्विटर नवीनतम वित्तीय समाचार और शेयर बाजार अपडेट के लिए।