ग्लेनमार्क लाइफ साइंसेज आईपीओ: 27 जुलाई को सब्सक्रिप्शन के लिए खुले ग्लेनमार्क लाइफ साइंसेज के आईपीओ का प्राइस बैंड तय हो गया है। 2 रुपये फेस वैल्यू शेयरों का प्राइस बैंड 695-720 रुपये रखा गया है। कंपनी के आईपीओ का आकार घटा दिया गया है और अब केवल 1060 करोड़ रुपये के नए शेयर जारी किए जाएंगे। पहले इरादा 1160 करोड़ रुपये के नए शेयर जारी करने का था। पहले 73.05 लाख शेयरों के लिए ऑफर फॉर सेल (ओएफएस) लाया जाना था लेकिन अब 63 लाख शेयरों के लिए ऑफर फॉर सेल लाया जाएगा। ग्लेनमार्क लाइफ साइंसेज इस आईपीओ के जरिए 1513.6 करोड़ रुपये जुटाएगी। शेयरों को 3 अगस्त 2021 को आवंटित किया जा सकता है और इसे 6 अगस्त को शेयर बाजार में सूचीबद्ध किया जा सकता है।

कम से कम 20 शेयरों के लिए आवेदन कर सकते हैं

इसके बाद निवेशक बहुत सारे 20 शेयरों और गुणकों के लिए आवेदन कर सकते हैं। आईपीओ का 50 प्रतिशत से अधिक क्यूआईबी के लिए आरक्षित नहीं होगा। 35 प्रतिशत खुदरा निवेशकों के लिए और 15 प्रतिशत गैर-संस्थागत निवेशकों यानी एनआईआई के लिए आरक्षित किया गया है। ग्लेनमार्क लाइफ साइंसेज ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स की सहायक कंपनी है। प्रमोटर के इक्विटी शेयर की औसत लागत 0.14 रुपये प्रति इक्विटी शेयर रखी गई है। प्राइस बैंड के टॉप पर ऑफर प्राइस 720 रुपये है।

आईपीओ का आकार घटा

एंकर निवेशक आईपीओ खुलने से एक दिन पहले 26 जुलाई को बोली लगा सकेंगे। ग्लेनमार्क लाइफ साइंसेज के 6 अगस्त, 2021 को शेयर बाजार में सूचीबद्ध होने की संभावना है। अप्रैल में दायर डीआरएचपी में कंपनी ने कहा था कि वह 1160 करोड़ रुपये के नए शेयर जारी करेगी और 73.05 लाख शेयरों की बिक्री की पेशकश करेगी। लेकिन अब यह आकार कम कर दिया गया है। लिस्टिंग के बाद, ग्लेनमार्क लाइफ साइंसेज डिविस लैबोरेटरीज, लॉरस लैब्स, शिल्पा मेडिकेयर, आरती ड्रग्स और सोलारा एक्टिव फार्मा साइंसेज के साथ दौड़ में शामिल हो जाएगी। ग्लेनमार्क लाइफ साइंसेज इस महीने का पांचवां आईपीओ होगा। इससे पहले क्लीन साइंस एंड टेक्नोलॉजी, जीआर इंफ्राप्रोजेक्ट्स, जोमैटो, तत्त्व चिंतन फार्मा और ग्लैंड फार्मा के आईपीओ आ चुके हैं। ये सभी फार्मा सेक्टर के आईपीओ हैं।

READ  Covid-19 उपचार: वैज्ञानिकों ने खोजा कोरोना संक्रमण को खत्म करने का नया तरीका, तीसरी लहर से निपटने में मिल सकती है मदद

ग्लेनमार्क लाइफ साइंसेज के आईपीओ का आकार घटा, 27 जुलाई को सब्सक्रिप्शन के लिए खुलेगा – जानिए सारी जानकारी

एपीआई कारोबार पर कंपनी की जिम्मेदारी

कोटक महिंद्रा कैपिटल, गोल्डमैन सैक्स, बोफा सिक्योरिटीज, डीएएम कैपिटल, बीओबी कैप्स और एसबीआई कैपिटल मार्केट्स इश्यू के लीड मैनेजर हैं। नए शेयर जारी कर 900 करोड़ जुटाए जाएंगे। कंपनी इसका इस्तेमाल बकाया चुकाने के लिए करेगी। इस रकम को कंपनी के एपीआई बिजनेस को अलग करने में खर्च किया गया। इसके अलावा बाकी 152.76 करोड़ रुपये का इस्तेमाल कंपनी अन्य जरूरतों को पूरा करने में करेगी। कंपनी की अवलंबी एपीआई कारोबार पर है। वित्त वर्ष 2019 और 2020 में इसके राजस्व में एपीआई की हिस्सेदारी क्रमशः 89.87 और 84.16 प्रतिशत थी।

प्राप्त व्यापार समाचार हिंदी में, नवीनतम भारत समाचार हिंदी में, और शेयर बाजार पर अन्य ब्रेकिंग न्यूज, निवेश योजना और फाइनेंशियल एक्सप्रेस पर बहुत कुछ। हुमे पसंद कीजिए फेसबुक, पर हमें का पालन करें ट्विटर नवीनतम वित्तीय समाचार और शेयर बाजार अपडेट के लिए।