क्रेडिट कार्ड यूज करने का सही तरीका

क्रेडिट कार्ड यूज करने का सही तरीका

क्रेडिट कार्ड क्या होता है?

एक क्रेडिट कार्ड दरअसल प्लास्टिक मनी होता है जो वित्तीय संस्थानों द्वारा जारी किया गया एक आयताकार प्लास्टिक कार्ड के रूप में जारी किया जाता है, जो आपको अपनी खरीद के लिए एक सीमा के अंदर पैसे उधार लेने देता है। इसकी क्रेडिट सीमा आपके क्रेडिट स्कोर और इतिहास के आधार पर कार्ड जारी करने वाली संस्था द्वारा तय की जाती है। आमतौर पर अगर आपका बढ़िया स्कोर और बेहतर क्रेडिट हिस्ट्री है तो उच्च सीमा वाले क्रेडिट कार्ड मिलते है।  क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड के बीच मुख्य अंतर यह है कि जब आप डेबिट कार्ड स्वाइप करते हैं, तो आपके बैंक खाते से पैसा कट जाता है;  जबकि, क्रेडिट कार्ड के मामले में, पैसा आपकी पूर्व-स्वीकृत सीमा से लिया जाता है। क्रेडिट कार्ड वित्तीय संस्थाओं द्वारा आपकी सैलरी या क्रेडिट स्कोर के आधार पर जारी किया जाता है। इसका मुख्य फायदा यही है कि आपको एक तय समय के लिए इंट्रेस्ट फ्री रकम उपयोग करने के लिए मिल जाती है वहीं साथ ही साथ अपने ट्रांजैक्शन पर नजर रखना भी आसान हो जाता है। इसका नुकसान यही है कि अगर समय पर बकाया राशि का भुगतान ना किया जाए तो इंट्रेस्ट चार्ज लगने के साथ साथ आपका सिबिल स्कोर भी खराब हो सकता है।

क्रेडिट कार्ड का उपयोग क्या है?

किसी सामान को खरीदने या सर्विस का भुगतान करने या ऑनलाइन लेनदेन जैसे उपयोग के लिए आप क्रेडिट कार्ड स्वाइप कर सकते हैं। आकस्मिक जरूरत वाली परिस्थितियों में आप क्रेडिट कार्ड से एक तय सीमा में कैश भी निकाल सकते हैं। क्रेडिट कार्ड अमूमन फायदेमंद ही होता है बशर्ते क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन करने के बाद आप यह सुनिश्चित करें कि पेनाल्टी चार्ज से बचने के लिए उधार ली गई राशि को तय समय सीमा के भीतर चुका दिया जाए। आपके क्रेडिट कार्ड का विवरण हमेशा कार्ड जारीकर्ता के पास सुरक्षित होता है और आपको धोखाधड़ी से बचने के लिए अपनी क्रेडिट कार्ड की जानकारी किसी के साथ साझा नहीं करनी चाहिए। क्रेडिट कार्ड लेना चाहिए या नहीं तो इसका जवाब है कि जरूर लेना और अच्छे से व्यवस्थित क्रेडिट कार्ड भविष्य के लिए फायदेमंद ही साबित होता है। क्रेडिट कार्ड से इस्तेमाल की गई रकम को चुकाने के लिए आपको संस्थाएं 20 से 50 दिन तक का समय देती हैं। ये जो लगभग पचास दिन का समय आपको मिलता है यह इंट्रेस्ट फ्री पीरियड होता है जिसका आपको कोई ब्याज नहीं देना पड़ता है। पर आपको बिलिंग डेट का काफी ध्यान रखना होता है क्योंकि आप यदि समय पर बिल नहीं चुकाते है तो इंट्रेस्ट रेट बाकी किसी भी प्रकार के कर्ज से बहुत ज्यादा होता है लगभग 36%-40% जो कि समस्या दे सकता है। इसलिए क्रेडिट कार्ड लीजिए पर उसका उपयोग सावधानी से और सही तरीके से करिए।

आइये जानते हैं क्रेडिट कार्ड यूज करने का सही तरीका क्या है?

जैसा कि सभी जानते हैं कि पहले क्रेडिट कार्ड संपन्न लोगों का विशेषाधिकार माने जाते थे, पर आज बहुत बड़ी संख्या में लोग क्रेडिट कार्ड का लाभ उठा सकते हैं। कारण, क्रेडिट कार्ड वित्तीय स्वतंत्रता प्रदान करता है और हार्ड कैश की तुलना में अधिक सुरक्षित है। मान लीजिए हम कहीं बाहर जा रहे हैं तो एक लाख रुपये जेब में ले जाना ना सम्भव है और ना ही सुरक्षित पर वही एक लाख की सीमा वाला क्रेडिट कार्ड जेब में ले जाना आसान और सुरक्षित है। क्रेडिट कार्ड से आप अभी खरीद सकते हैं और बाद में भुगतान कर सकते हैं।  यह इस प्रकार एक वित्तीय संकट में मदद करता है। यदि यह भी काफी नहीं है तो क्रेडिट कार्ड तरह तरह के ऑफर और रिवार्ड के साथ आते हैं जो एक तरफ पैसे बचाते हैं तो वही लाइफस्टाइल संबधित लाभ भी प्रदान करते हैं।

इन रिवार्ड के अलावा आप अपने क्रेडिट कार्ड से ज्यादा से ज्यादा तभी प्राप्त कर सकते हैं जब आप इसे स्मार्ट तरीके से उपयोग करते हैं।

 आइये जानते हैं कि अपने क्रेडिट कार्ड का सही तरीके से उपयोग कैसे करें?  

1. अपने खर्च पर नजर रखें

 यदि आप अपने खर्च पर ध्यान नहीं देते हैं तो आप कर्ज के जाल में फंस सकते हैं।  अपने क्रेडिट कार्ड के खर्च पर नज़र रखना महत्वपूर्ण है। जब भी आप किसी भी लेन-देन के लिए अपने कार्ड का उपयोग करते हैं, तो हस्तलिखित डायरी या खर्च की सूची बनाए रखने की जरूरत नहीं पड़ती फिर भी एक रिकार्ड जरूर रखे ताकि याद रहे कि आप अपनी भुगतान क्षमता से अधिक तो कार्ड पर बोझ नहीं डाल रहे हैं। आप क्रेडिट कार्ड इस्तेमाल करते समय अपनी भुगतान क्षमता का ध्यान रखें ना कि क्रेडिट लिमिट का, क्योंकि आप अपनी पूरी सैलरी सिर्फ क्रेडिट कार्ड के बिल भरने के लिए लिए नहीं खर्च सकते हैं। यदि कुछ उपाय कठोरता से किया जाए , तो यह अतिरिक्त खर्च प्रवृत्ति को दूर करने में मदद करेगा।

एक रणनीति यह है जिसे आप आज़मा सकते हैं कि आप एक सीमा खुद तय करे अपने कार्ड के लिए और अपने कार्ड का उपयोग तब तक ही करें जब तक कि आप स्व-लगाई गई सीमा के उपर जाने लगे। उदाहरण के लिए यदि आपके कार्ड की लिमिट 75000 है तो आप अपनी तरफ से 20000 तय करे और इसे ही आखिरी लिमिट माने। इसके बाद कार्ड को खुद से यह सोच कर दूर करें कि उसमे अब सीमा नहीं बची। इस तरह से आप अचानक आने वाली किसी बड़ी जरूरत के लिए भी खुद को सुरक्षित करते है। आप अगले महीने तक कार्ड को ना इस्तेमाल करें जब तक कि पिछला बिल ना चुका दें। यह आपको बजट में और आपके बिल के शीर्ष पर बने रहने में मदद कर सकता है। कोशिश करें कि केवल बड़े सामान के लिए अपने कार्ड का उपयोग करें।

2. अपने हिसाब से क्रेडिट सीमा निर्धारित करें

 क्या आप जानते हैं कि आप अपने कार्ड की क्रेडिट सीमा को अपने हिसाब से नियोजित कर सकते हैं? अपने क्रेडिट प्रदाता से एक सीमा निर्धारित करने का अनुरोध करें जो आपको नियत तारीख से पहले आसानी से भुगतान करने की अनुमति देता है। एक क्रेडिट सीमा जो बहुत अधिक है, आपको फालतू खर्च के लिए लुभा सकती है, जबकि अगर बहुत कम है वह महत्वपूर्ण बड़े लेनदेन को बाधित कर सकती है। उचित क्रेडिट सीमा निर्धारित करना बहुत महत्वपूर्ण है।

3. क्रेडिट कार्ड की जानकारी नियमित रूप से चेक करें

 अपने क्रेडिट कार्ड विवरणों पर कड़ी निगरानी रखें। यह एक अच्छी आदत है कि आप एक बार लॉगिन करके अपने खर्चों पर नजर भी रख सकते हैं साथ ही साथ आपकी नजर में किसी भी प्रकार का अतिरिक्त शुल्क भी आ जाएगा जो आगे चलकर समस्या दे सकता हो। इससे आपको अपने वित्त को प्रबंधित करने और पेमेंट्स को प्राथमिकता देने में मदद मिलेगी।  यह ऐसे किसी भी शुल्क का पता लगाने और उससे बचने में भी मदद करेगा जो पहले आपकी दृष्टि से चूक गए हों।

4. समय पर अपने क्रेडिट कार्ड के बिलों का भुगतान करें

 यह सब को पता है फिर भी कई लोग इस सलाह को अनदेखा करते हैं वो भी इसके भयंकर परिणामों के साथ। क्रेडिट कार्ड देने वाले बकाया राशि पर बहुत अधिक ब्याज दर लगाते हैं। इसलिए यदि आप समय पर अपना क्रेडिट कार्ड बकाया नहीं चुकाते हैं, तो आपको भारी भुगतान करना होगा। इसके अलावा, आपके बिलों पर डिफॉल्ट करना आपके क्रेडिट स्कोर को प्रभावित करता है। अतिरिक्त ब्याज से बचने और अपने क्रेडिट स्कोर को बनाए रखने के लिए, समय पर अपने बिलों का भुगतान करें। समय पर आपके क्रेडिट कार्ड के बिलों का भुगतान करने में विफल रहने से आपके क्रेडिट स्कोर पर उल्टा प्रभाव पड़ सकता है। आप आगे भविष्य में क्रेडिट कार्ड पाने के लिए ब्लॉक भी हो सकते हैं। यदि आप डरते हैं और आप को अपनी नियत तारीख याद नहीं रह पाएगी, तो अपने फोन पर कुछ दिन पहले एक अलार्म सेट करें या अपने कैलेंडर पर तारीख को चिह्नित करें। एक अन्य विकल्प: अपनी ऑनलाइन खाता सेटिंग्स को समायोजित करें ताकि आपके बिल का भुगतान महीने के एक निश्चित दिन ecs द्वारा किया जाए।

5. मुफ्त ऑफ़र और रिवॉर्ड्स का उपयोग करें

 क्रेडिट कार्ड कंपनियां समय-समय पर पुरस्कार और प्रोत्साहन देती हैं। यह कैशबैक या फ्री वाउचर के रूप में हो सकता है। नए ऑफ़र के लिए अपने बैंक को संपर्क करें। अपनी जरूरत का सामान खरीदने के लिए आप अपने रिवार्ड पॉइंट्स का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। बैंक से क्रेडिट कार्ड की एक श्रेणी से चुनें जो आपकी आवश्यकताओं के अनुसार कई सेवाएं और लाभ प्रदान करती हैं।

6. न्यूनतम भुगतान के जाल में ना फंसे

 यह गलती अक्सर देखी जाती है कि लोग सोचते हैं कि आपके कार्ड की बकाया राशि पर न्यूनतम भुगतान करना पर्याप्त है। जुर्माने से बचने के लिए, आपको समय पर कम से कम अपने न्यूनतम बिल का भुगतान करना होगा। लेकिन भारी ब्याज दरों से बचने के लिए, आपको बिल का पूरा भुगतान भी करना होगा।  न्यूनतम बकाया राशि पर ध्यान न दें, और हर महीने अपने पूर्ण कार्ड शेष को साफ़ करने के लिए इसे एक बिंदु बनाएं। न्यूनतम बिल सिर्फ इंट्रेस्ट है और आपका मूल बिल ज्यों का त्यों बना रहता है जिस पर आपको और ज्यादा ब्याज देना पड़ सकता है।

 7. एटीएम में अपने कार्ड का उपयोग करने से बचें

 आपके क्रेडिट कार्ड में यह सुविधा है कि एक तय रकम आप जरूरत पड़ने एटीएम से कैश के तौर पर निकाल सकते हैं। आप इस सुविधा का उपयोग करने से बचें। यद्यपि अनुमति दी गई है पर एटीएम से कैश निकालना भारी शुल्क को आकर्षित करती है क्योंकि उसके लिए कोई भी इंट्रेस्ट फ्री अवधि नहीं दी जाती है। जिस दिन से आप कैश निकालते है 36%-40% ब्याज आप पर हावी हो जाता है और बेशक बाजार में इससे सस्ते दर के कर्ज के लिए और कई ऑप्शन है। यकीनन बहुत आवश्यक ना होने पर आप ऐसे भारी भुगतान नहीं करना चाहेंगे।

8. अपने क्रेडिट कार्ड की डिटेल्स सुरक्षित रखें

 स्कैमर्स क्रेडिट कार्ड उपयोगकर्ताओं को धोखा देने के नए तरीके खोजते रहते हैं। अपने आप को शिक्षित करना चाहिए और नए खतरों से अवगत होना चाहिए। एक बुनियादी उपाय के रूप में, हमेशा सुरक्षा विवरण जैसे कि पासवर्ड , सीवीवी नंबर, ओटीपी और एक्सपायरी डेट निजी और सुरक्षित रखें।  अपने कार्ड को किसी को सौंपते समय हमेशा यह जान लें कि यह कहां ईस्तेमाल हो रहा है।  पीओएस मशीनों और एटीएम को छोड़कर किसी भी स्थान पर अपने कार्ड को स्वाइप करने के लिए सावधानी बरतना चाहिए।  असुरक्षित स्वाइप से आपका कार्ड क्लोन हो सकता है और उसका दुरुपयोग हो सकता है।

9. जॉइनिंग और रिन्यूअल फीस पर ध्यान दें

 क्रेडिट कार्ड में अक्सर जॉइनिंग और रिन्यूअल फीस होती है। हालांकि, ऐसे भी कार्ड हैं जिनका कोई सालाना शुल्क नहीं होता है। कार्ड का आवेदन करते समय, फ़ी स्ट्रक्चर पर भी ध्यान दें। शुल्क उचित होना चाहिए और कार्ड के मिलने वाले लाभों से कवर होना चाहिए।  इसके अलावा, यदि आप एक निश्चित राशि सालाना खर्च करते हैं, तो कई कार्ड शुल्क में बदलाव की अनुमति देते हैं। कई कार्ड सालाना फीस माफ करने के लिए आपको ज्यादा खर्च करने की सलाह देते है जो आपके बजट पर भी प्रभावी हो सकता है।

10. यदि जरूरत हो तो पर्सनल लोन प्राप्त करें

 क्रेडिट कार्ड आपके क्रेडिट इतिहास के आधार पर असुरक्षित पर्सनल लोन की भी अनुमति देते हैं। यदि आपको वित्तीय सहायता की आवश्यकता है, तो कहीं और लोन की तलाश न करें। एक लाभ उठाने के लिए अपने क्रेडिट कार्ड का उपयोग करें। इस पर आपको आसान ईएमआई भी ऑफर की जाती है जिसमें आप कम इंट्रेस्ट पर कई किश्तों में अपना कर्ज चुका सकते हैं। इससे भी महत्वपूर्ण बात, आपको इसके लिए किसी दस्तावेज की आवश्यकता नहीं है। इसमे पुनर्भुगतान का काम और समय दोनों लचीले है, जिससे आपके ऋण का प्रबंधन करना आसान हो जाता है। कई बड़े उपकरण या खरीद पर बैंकों की स्कीम पर आप जीरो इंट्रेस्ट ईएमआई का भी लाभ उठा सकते है हालाँकि हो सकता है ऐसी परिस्थिति में आपको वह प्रॉडक्ट कम डिस्काउंट पर मिले क्योंकि कंपनियां आपको दिया गया जीरो इंट्रेस्ट का घाटा वहीं से वसूलती है।

उपरोक्त वह सभी उपाय है जिसे अपनाकर आप क्रेडिट कार्ड का सही इस्तेमाल कर सकते हैं। एक क्रेडिट कार्ड अपने रिवार्ड पॉइंट्स और एक वित्तीय संकट के समय में भी लेनदेन करने की सुविधा के लिए डेबिट कार्ड्स की तुलना में ज्यादा लाभ प्रदान करता है। सावधानीपूर्वक उपयोग के साथ, यह आपके दैनिक लेनदेन में एक वफादार सहयोगी हो सकता है और निश्चित रूप से आपात स्थिति के दौरान आपका भरोसेमंद साथी बन सकता है।

लेकिन अगर आप क्रेडिट का सही तरीके से उपयोग करना चाहते हैं, तो आपको क्रेडिट कार्ड को पूरी तरह से त्यागने के बजाय कुछ सरल आदतों को अपनाना होगा जो आपको क्रेडिट कार्ड के लाभों का आनंद लेने देंगे।

You May Also Like

About the Author: Sumit

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *