वित्तीय वर्ष २०११ में ऑटो की बिक्रीऑटो बिक्री: ऑटो सेक्टर वित्त वर्ष 2020-21 में कोरोना वायरस से प्रभावित था। वाहन की बिक्री में 13.6 प्रतिशत की गिरावट आई है।

ऑटो बिक्री: ऑटो सेक्टर वित्त वर्ष 2020-21 में कोरोना वायरस से प्रभावित था। पिछले वित्त वर्ष में यात्री वाहनों की बिक्री में 2.24 प्रतिशत की गिरावट आई है। इस अवधि के दौरान, कंपनियों ने 27,11,457 यात्री वाहन बेचे, जबकि साल भर पहले की अवधि में कुल 27,73,519 यात्री वाहन बेचे गए थे। संयुक्त सभी श्रेणियों की बात करें तो वाहन की बिक्री में 13.6 प्रतिशत की गिरावट आई है। इंडस्ट्री बॉडी SIAM ने यह डेटा जारी किया है। बता दें कि पिछले कई महीनों से ऑटो सेक्टर में सुस्ती चल रही है। वित्त वर्ष 2021 के बाद के महीनों में बिक्री में सुधार हुआ है, लेकिन कुल मिलाकर इसमें गिरावट आई है।

दो पहिया वाहनों की बिक्री में 13% की कमी

वित्त वर्ष 2021 में दो पहिया वाहनों की बिक्री में 13.19 प्रतिशत की गिरावट आई है। इस अवधि के दौरान, कंपनियों ने कुल 1,51,19,387 इकाइयाँ बेचीं, जबकि वित्त वर्ष में 1,74,16,432 दुपहिया वाहन बेचे गए। 2020।

वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री में 21% की कमी

वाणिज्यिक वाहनों की बात करें तो पिछले वित्त वर्ष में बिक्री में 20.77 प्रतिशत की गिरावट आई है। इस अवधि के दौरान, कुल 5,68,559 वाणिज्यिक वाहन बेचे गए। जबकि वित्त वर्ष 2020 में 7,17,593 वाणिज्यिक वाहन बेचे गए थे।

66% से नीचे तीन पहिया बिक्री

तीन पहिया वाहनों की बात करें तो पिछले वित्त वर्ष में बिक्री में 60 फीसदी की गिरावट आई थी। इस अवधि के दौरान, तीन पहिया वाहनों की 2,16,197 इकाइयाँ बेची गईं। जबकि वित्त वर्ष 2020 में 6,37,065 तीन पहिया वाहन बेचे गए थे।

READ  ओप्पो A54 इंडिया लॉन्च: 13,490 रुपये की शुरुआती कीमत, 5,000mAh की दमदार बैटरी

कुल मिलाकर बिक्री में 13.6% की कमी हुई

संयुक्त सभी श्रेणियों की बात करें तो वाहन की बिक्री में 13.6 प्रतिशत की गिरावट आई है। वित्त वर्ष 2021 में कुल 1,86,15,588 इकाइयाँ बेची गईं, जबकि वित्त वर्ष 2020 में कुल 2,15,45,551 इकाइयाँ बेची गईं।

महामारी से पहले एक मंदी थी

SIAM के अध्यक्ष केनिची अयुकावा का कहना है कि अतीत में महामारी से पहले भी ऑटो सेक्टर पर दबाव था। महामारी के बाद यह दबाव बढ़ गया, जिसका ऑटो सेक्टर पर बड़ा प्रभाव है। कई वाहन खंड कई वर्षों से वापस आ गए हैं। यहां से पुनर्प्राप्ति की आवश्यकता है और इसके लिए सभी हितधारकों के प्रयासों की आवश्यकता होगी। उन्होंने कहा कि अनिश्चितता के माहौल में, भविष्य की भविष्यवाणी करने की कोशिश करने के बजाय, हम सभी इसे बनाने के लिए कड़ी मेहनत करेंगे।

प्राप्त व्यापार समाचार हिंदी में, नवीनतम इंडिया न्यूज हिंदी में, और शेयर बाजार, निवेश योजना और फाइनेंशियल एक्सप्रेस हिंदी पर बहुत कुछ अन्य ब्रेकिंग न्यूज। हुमे पसंद कीजिए फेसबुक, पर हमें का पालन करें ट्विटर नवीनतम वित्तीय समाचार और शेयर बाजार अपडेट के लिए।