कोवाक्सिन मूल्य निर्धारणकोवाक्सिन प्राइस फिक्स: सीरम इंस्टीट्यूट के बाद, अब वैक्सीन के निर्माता भारत बायोटेक ने कोरोन वैक्सीन की कीमत तय की है।

कोवाक्सिन मूल्य निर्धारण: सीरम इंस्टीट्यूट के बाद अब वैक्सीन के निर्माता भारत बायोटेक ने कोरोना वैक्सीन की कीमत तय की है। भारत बायोटेक ने कहा है कि वह अपने कोविद -19 वैक्सीन कोवाक्सिन को 600 रुपये प्रति डोज (शीशी) के लिए राज्य सरकारों को उपलब्ध कराएगा। वहीं, निजी अस्पतालों के लिए, इस टीके की एक खुराक की कीमत 1,200 रुपये होगी। इस लिहाज से भारत का बायोटेक वैक्सीन सीरम वैक्सीन से ज्यादा महंगा है। बता दें कि 1 मई से देश भर में कोरोना टीकाकरण का अगला चरण शुरू होने जा रहा है। इसमें 18 वर्ष से ऊपर के सभी लोग कोरोना वायरस का टीका लगवा सकते हैं।

150 प्रति खुराक केंद्र सरकार को आपूर्ति की

भारत बायोटेक के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक कृष्ण एम। अल्ला ने कहा कि उनकी कंपनी केंद्र सरकार को 150 रुपये प्रति खुराक की दर से कोकीन की आपूर्ति कर रही है और केंद्र अपनी ओर से नि: शुल्क वैक्सीन वितरित कर रहा है। अल्ला ने कहा कि ‘हम यह बताना चाहते हैं कि कंपनी की आधी से अधिक उत्पादन क्षमता केंद्र सरकार को आपूर्ति के लिए आरक्षित है।

कोवाक्सिन का भी निर्यात किया जाएगा

निजी अस्पतालों को वैक्सीन 12,00 रुपये में और राज्य सरकारों को 600 रुपये में वैक्सीन मिलेगी। वहीं, यह टीका केंद्र सरकार को 150 रुपये में दिया जा रहा है। कंपनी ने कहा कि कोवाक्सिन का भी निर्यात किया जाएगा। निर्यात किए जाने वाले टीके की लागत प्रति खुराक 15 से 20 डॉलर (1,123-1498 रुपये) होगी।

READ  RD: 16.26 लाख 12 लाख निवेश पर उपलब्ध होंगे, आपके खाते में ब्याज कैसे जोड़ा जाता है

सीरम टीका दर

इससे पहले, इस सप्ताह की शुरुआत में, सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने घोषणा की थी कि कोविल्ड को राज्य सरकारों को प्रति खुराक 400 रुपये और निजी अस्पतालों को 600 रुपये में बेचा जाएगा। अब तक सीरम भी कोविशिल्ड को 150 रुपये प्रति खुराक की दर से केंद्र सरकार को आपूर्ति कर रहा है। सीरम संस्थान के अनुसार, कुल टीका उत्पादन का 50 प्रतिशत भारत सरकार के टीकाकरण कार्यक्रम में उपयोग किया जाएगा। शेष 50 प्रतिशत सरकारी और निजी अस्पतालों को दिया जाएगा। कंपनी की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि अगले दो महीनों में हम टीके की कमी की भरपाई उत्पादन बढ़ाकर करेंगे।

प्राप्त व्यापार समाचार हिंदी में, नवीनतम इंडिया न्यूज हिंदी में, और शेयर बाजार, निवेश योजना और फाइनेंशियल एक्सप्रेस हिंदी पर बहुत कुछ अन्य ब्रेकिंग न्यूज। हुमे पसंद कीजिए फेसबुक, पर हमें का पालन करें ट्विटर नवीनतम वित्तीय समाचार और शेयर बाजार अपडेट के लिए।