SBI कोरोना के इलाज के लिए 5 लाख रुपये तक का कर्ज दे रहा है.

एसबीआई कवच पर्सनल लोन : स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) ने उन खाताधारकों को कर्ज देने की योजना शुरू की है, जिन्हें कोविड-19 के इलाज के लिए पैसे की जरूरत है। एसबीआई कवच पर्सनल लोन योजना के तहत खाताधारकों या उनके परिवार के सदस्यों को कोरोना के इलाज के लिए कर्ज दिया जा रहा है. अगर खाताधारक या उसके परिवार का कोई सदस्य 1 अप्रैल 2021 को या उसके बाद कोरोनो पॉजिटिव पाया जाता है तो वह इस योजना के तहत इलाज के लिए कर्ज ले सकता है। इलाज के लिए पहले का खर्च भी लोन के तहत कवर किया जाता है। यह ऋण वेतनभोगी, गैर-वेतनभोगी या गैर-पेंशनभोगी सहित सभी खाताधारकों के लिए उपलब्ध हो सकता है।

एसबीआई कवच ऋण ८.५% ब्याज पर उपलब्ध है

कोरोना के इलाज के लिए यह पर्सनल लोन (एसबीआई कवच पर्सनल लोन) फिलहाल ब्याज दर 8.5 फीसदी रखी गई है। इसके तहत 5 लाख रुपये तक का कर्ज लिया जा सकता है। ऋण अवधि पांच वर्ष तक है। इसमें तीन महीने की मोहलत अवधि भी शामिल है। 60 महीने के इस कर्ज में तीन महीने की ईएमआई माफी भी शामिल है। यानी ग्राहक को सिर्फ 57 महीने की ईएमआई देनी होगी। इस योजना के तहत न्यूनतम 25 हजार और अधिकतम पांच लाख रुपये का ऋण लिया जा सकता है। इसके लिए कोई प्रोसेसिंग फीस, सिक्योरिटी डिपॉजिट और प्री-पेमेंट पेनल्टी नहीं लगेगी। ऋण के लिए कोई फौजदारी शुल्क नहीं होगा

15,000 रुपये तक सस्ते हो जाएंगे इलेक्ट्रिक स्कूटर और मोटरसाइकिल, कीमतों को कम करने के लिए सरकार ने उठाया यह कदम

READ  ममता बनर्जी का बीजेपी पर पलटवार, कहा- बदले की राजनीति कर रही केंद्र सरकार, बंगाल की बेहतरी के लिए मोदी के पैर छूने को तैयार

आप YONO ऐप के जरिए भी अप्लाई कर सकते हैं

कोई भी एसबीआई शाखा के साथ योनो ऐप पर ऋण के लिए आवेदन कर सकता है। आप योनो ऐप पर प्री-अप्रूव्ड पर्सनल लोन के लिए अप्लाई कर सकते हैं। यदि आप इसे एसबीआई से कोरोना के इलाज के खर्च के लिए लेते हैं, तो इसे जल्द से जल्द भुगतान करने का प्रयास करें। पूरे पांच साल की अवधि के लिए ऋण न रखें। इससे आप पर ब्याज का बोझ बढ़ेगा।

प्राप्त व्यापार समाचार हिंदी में, नवीनतम भारत समाचार हिंदी में, और शेयर बाजार पर अन्य ब्रेकिंग न्यूज, निवेश योजना और फाइनेंशियल एक्सप्रेस पर बहुत कुछ। हुमे पसंद कीजिए फेसबुक, पर हमें का पालन करें ट्विटर नवीनतम वित्तीय समाचार और शेयर बाजार अपडेट के लिए।