OIL Q4 के परिणाम कच्चे तेल के कम उत्पादन के कारण शुद्ध लाभ 8 प्रतिशत गिर गयादेश के दूसरे सबसे बड़े तेल निर्यातक ऑयल इंडिया लिमिटेड के शुद्ध लाभ में मार्च तिमाही में 8 फीसदी की गिरावट आई है।

ऑयल इंडिया Q4 परिणाम: देश की दूसरी सबसे बड़ी तेल निर्यातक ऑयल इंडिया लिमिटेड ने सोमवार को कहा कि मार्च तिमाही में शुद्ध लाभ में 8 फीसदी की गिरावट आई है. इसकी वजह कच्चे तेल का कम उत्पादन बताया जा रहा है। कंपनी ने बयान में कहा कि उसका शुद्ध लाभ जनवरी-मार्च 2021 में 847.56 करोड़ रुपये या 7.82 रुपये प्रति शेयर रहा, जबकि पिछले साल की समान अवधि में यह 925.65 करोड़ रुपये या 8.54 रुपये प्रति शेयर था।

तेल उत्पादन में 5.28% की गिरावट

कंपनी को तिमाही में कच्चे तेल के प्रति बैरल 59.80 अमेरिकी डॉलर मिले। इसमें एक साल पहले के 5.18 अमेरिकी डॉलर के मुकाबले बढ़ोतरी हुई है। लेकिन जनवरी-मार्च 2021 में तेल उत्पादन 5.28 फीसदी गिरकर 0.72 मिलियन टन रह गया।

गैस उत्पादन लगभग 0.649 अरब घन मीटर पर स्थिर रहा। वित्त वर्ष 2020-21 की चौथी तिमाही में कारोबार एक साल पहले के 3,583.72 रुपये से बढ़कर 3,909.61 करोड़ रुपये हो गया। तेल की कम कीमतों के कारण 2020-21 में शुद्ध लाभ घटकर 1,741.59 करोड़ रुपये रह गया, जो पिछले वित्त वर्ष में 2,584.06 करोड़ रुपये था।

2020-21 में कच्चे तेल का उत्पादन 2.964 मिलियन टन रहा। यह 2019-20 के दौरान 3.134 मिलियन टन के उत्पादन से 5.42 प्रतिशत कम था। 2020-21 में प्राकृतिक गैस का उत्पादन भी 5.68 प्रतिशत घटकर 2642 मिलियन स्टैंडर्ड क्यूबिक मीटर रह गया।

आरबीआई ने तीन सहकारी बैंकों पर लगाया जुर्माना, नियमों का पालन नहीं करने पर कार्रवाई

READ  पॉवरग्रिड इन्विट आईपीओ: कमाई के अवसर! 7734 करोड़ का आईपीओ खुल रहा है, शेयर की कीमत केवल 100 रुपये है

ओआईएल ने कहा कि उसके बोर्ड ने 2020-21 के लिए 1.50 रुपये प्रति शेयर के अंतिम लाभांश का सुझाव दिया था। इससे पहले फरवरी में कंपनी ने 3.50 रुपये प्रति शेयर के अंतरिम लाभांश का भुगतान किया था। बयान में कहा गया है कि कंपनी ने 26 मार्च 2021 को नुमालीगढ़ रिफाइनरी लिमिटेड (एनआरएल) में अतिरिक्त 54.16 प्रतिशत स्वामित्व का अधिग्रहण किया है। एनआरएल में इक्विटी हिस्सेदारी बढ़ाकर 80.16 फीसदी कर दी गई है, जिसमें असम सरकार द्वारा लिए गए 10.53 फीसदी शेयर शामिल हैं। अब एनआरएल ओआईएल की सहायक कंपनी है।

(इनपुट: पीटीआई)

प्राप्त व्यापार समाचार हिंदी में, नवीनतम भारत समाचार हिंदी में, और शेयर बाजार, निवेश योजना और फाइनेंशियल एक्सप्रेस पर अन्य ब्रेकिंग न्यूज। हुमे पसंद कीजिए फेसबुक, पर हमें का पालन करें ट्विटर नवीनतम वित्तीय समाचार और शेयर बाजार अपडेट के लिए।