एमी ऑर्गेनिक्स ने सेबी फर्म के पास आईपीओ दस्तावेज दाखिल किए सार्वजनिक निर्गम पर दूसरा प्रयास

आईपीओ सदस्यता के लिए, विशेष रसायन निर्माता एमी ऑर्गेनिक्स ने आईपीओ लॉन्च करने के लिए पूंजी बाजार नियामक सेबी के साथ एक मसौदा रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस (डीआरएचपी) दायर किया है। प्रस्तावित पब्लिक इश्यू के तहत 300 करोड़ रुपये के शेयर फ्रेश इश्यू होंगे और मौजूदा प्रमोटरों और शेयरधारकों द्वारा ऑफर फॉर सेल (ओएफएस) के तहत 60.5 लाख शेयर जारी किए जाएंगे। एमी ऑर्गेनिक्स 100 करोड़ रुपये तक के प्री-आईपीओ प्लेसमेंट के लिए बुक रनिंग मैनेजर्स से सलाह ले रही है। फिस्कल सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड, एंबिट प्राइवेट लिमिटेड और एक्सिस कैपिटल लिमिटेड इस इश्यू के रनिंग लीड मैनेजर हैं और लिंक इनटाइम प्राइवेट लिमिटेड इस इश्यू का रजिस्ट्रार है। रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस के माध्यम से पेश किए गए इक्विटी शेयरों को स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध किया जाएगा।

दिल्ली अनलॉक प्रक्रिया: दिल्ली में ऑड-ईवन फॉर्मूले के तहत खुले बाजार और मॉल, 50 फीसदी क्षमता से चल रही पटरियों पर मेट्रो भी

2018 में भी एमी ऑर्गेनिक्स को मिली मंजूरी

एमी ऑर्गेनिक्स दूसरी बार सार्वजनिक होने की कोशिश कर रहा है। करीब तीन साल पहले साल 2018 में कंपनी ने सेबी के पास प्रारंभिक कागजात दाखिल किए थे और आईपीओ लॉन्च करने के लिए सेबी की मंजूरी मिल गई थी। हालांकि, मंजूरी मिलने के बावजूद कंपनी ने आईपीओ लॉन्च नहीं किया। कंपनी इश्यू से करीब 140 करोड़ रुपये की वित्तीय सुविधाओं का पुनर्भुगतान करेगी और 90 करोड़ रुपये से कार्यशील पूंजी की जरूरतों को पूरा करेगी।

भारतीय केमिकल मार्केट के 12% बढ़ने की उम्मीद

निवेशकों से बेहतर प्रतिक्रिया मिलने पर आरती इंडस्ट्रीज, हेकल लिमिटेड, वैलेंट ऑर्गेनिक्स, विनती ऑर्गेनिक्स, न्यूलैंड ऑर्गेनिक्स और अतुल लिमिटेड के बाद अब अमी ऑर्गेनिक्स भी सूचीबद्ध हो सकती है। उद्योग का औसत पीई अनुपात 44.82x है। 2019 में भारतीय रासायनिक बाजार का मूल्य लगभग 16.6 ट्रिलियन डॉलर था, जो वैश्विक रासायनिक उद्योग का लगभग 4 प्रतिशत था। अब अनुमान लगाया जा रहा है कि यह 12 प्रतिशत सीएजीआर के साथ 2025 तक 326 ट्रिलियन डॉलर तक पहुंच सकता है। इसके अलावा स्पेशियलिटी केमिकल इंडस्ट्री की बात करें तो घरेलू बाजार में इसकी 47 फीसदी हिस्सेदारी है, जिसके 2025 तक 11-12 फीसदी सीएजीआर से बढ़ने की उम्मीद है।

READ  भारत में मकान सस्ते हो गए! ग्लोबल प्राइस इंडेक्स में भारत की रैंकिंग 13 स्थान फिसल गई

(अनुच्छेद- सुरभि जैन)

प्राप्त व्यापार समाचार हिंदी में, नवीनतम भारत समाचार हिंदी में, और शेयर बाजार पर अन्य ब्रेकिंग न्यूज, निवेश योजना और फाइनेंशियल एक्सप्रेस पर बहुत कुछ। हुमे पसंद कीजिए फेसबुक, पर हमें का पालन करें ट्विटर नवीनतम वित्तीय समाचार और शेयर बाजार अपडेट के लिए।