एमक्योर फार्मास्यूटिकल्स 1,100 करोड़ रुपये से अधिक के आईपीओ के लिए सेबी के पास प्रारंभिक दस्तावेज (डीआरएचपी) दाखिल किए हैं। इस आईपीओ के जरिए 1,100 करोड़ रुपये के नए शेयर जारी किए जाएंगे, जबकि ऑफर फॉर सेल के जरिए 18,168, 365 इक्विटी शेयर बेचे जाएंगे। इसमें प्रमोटरों द्वारा बेचे गए इक्विटी शेयर भी शामिल हैं। इश्यू का आकार 1,100 करोड़ रुपये से अधिक होगा।

वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान कंपनी ने 418.5 करोड़ रुपये का मुनाफा कमाया।

पिछले वित्त वर्ष (2020-21) के दौरान कंपनी को 418.5 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ है। कंपनी पिछले तीन वित्तीय वर्षों से मुनाफा कमा रही है। पिछले वित्त वर्ष के दौरान कंपनी ने 6091 करोड़ रुपये का राजस्व हासिल किया था। आईपीओ का 50% QBI के लिए आरक्षित है। 35 प्रतिशत खुदरा निवेशकों के लिए और 15 प्रतिशत एनआईआई के लिए आरक्षित है। लिस्टिंग के बाद, यह एबॉट इंडिया, अल्केम लेबोरेटरीज, बायोकॉन लिमिटेड, सिप्ला, डॉ रेड्डीज लैबोरेटरीज और टोरेंट फार्मास्युटिकल्स की लीग में शामिल हो जाएगा।

झुनझुनवाला पोर्टफोलियो: राकेश झुनवाला ने इस समूह की कंपनियों के शेयरों में लगाया दांव, एक साल में कीमत में 135 फीसदी की बढ़ोतरी

एमक्योर फार्मास्युटिकल्स देश की 12वीं सबसे बड़ी फार्मा कंपनी

एमक्योर फार्मास्युटिकल्स देश की 12वीं सबसे बड़ी फार्मा कंपनी है। कंपनी नई दवाएं बनाने, उनके उत्पादन और मार्केटिंग का काम करती है। यह कई देशों में दवाओं का विपणन करता है और 70 देशों में इसकी मौजूदगी है। आईपीओ के तहत प्रवर्तक सतीश मेहता और सुनील मेहता ऑफर फॉर सेल के तहत क्रमश: 20.30 लाख और 2.5 लाख शेयर बेचेंगे। बीसी इन्वेस्टमेंट IV 99.5 लाख शेयर बेचेगा। यह अमेरिकी निजी निवेश कंपनी बैन कैपिटल की एक इकाई है। आईपीओ से पहले एमक्योर 200 करोड़ रुपये का प्री-प्लेसमेंट ला सकती है।

See also  हेल्थ इंश्योरेंस खरीदते समय दें पूरी और सही हेल्थ जानकारी, नहीं तो आपका क्लेम रिजेक्ट हो सकता है

पाना व्यापार समाचार हिंदी में, नवीनतम भारत समाचार हिंदी में, और शेयर बाजार, निवेश योजना और फाइनेंशियल एक्सप्रेस पर अन्य ब्रेकिंग न्यूज। हुमे पसंद कीजिए फेसबुक, पर हमें का पालन करें ट्विटर नवीनतम वित्तीय समाचार और शेयर बाजार अपडेट के लिए।