इंफोसिस के शेयर की कीमत नई रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गई, बाजार पूंजीकरण 100 अरब डॉलर तक पहुंच गया, 8 प्रतिशत अधिक बढ़ सकता हैइंफोसिस के शेयर की कीमत 1755.60 रुपये की रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंचने के साथ ही इसका मार्केट कैप 10 हजार करोड़ डॉलर (7.43 लाख करोड़ रुपये) के स्तर पर पहुंच गया।

इंफोसिस आउटलुक: इंफोसिस के शेयर आज 24 अगस्त को बीएसई पर रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गए। इंफोसिस के शेयर की कीमत 1755.60 रुपये की रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंचने के साथ ही इसका मार्केट कैप 10 हजार करोड़ डॉलर (7.43 लाख करोड़ रुपये) के स्तर पर पहुंच गया। टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (TCS) के बाद इस स्तर पर पहुंचने वाली यह देश की दूसरी आईटी कंपनी है। इंफोसिस का शेयर आज करीब एक फीसदी की तेजी के साथ 1755.60 रुपये पर पहुंच गया लेकिन उसके बाद यह फिसलन भरा रहा और बीएसई पर आज यह 1720.75 रुपये पर बंद हुआ। एनालिस्ट्स के मुताबिक, इंफोसिस ने हालिया नए ऑफर्स और विस्तृत प्रोडक्ट पोर्टफोलियो के दम पर अपनी स्थिति मजबूत की है। इसके अलावा कंपनी ईएसजी (पर्यावरण, सामाजिक और शासन) के मोर्चे पर भी बेहतर स्थिति में है।

फिलहाल घरेलू बाजार में तेजी का रुख है यानी तेजी का रुख है और निफ्टी आईटी इंडेक्स दुनिया भर में सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाला है। आईटी शेयरों में निवेश इस साल निवेशकों के लिए बेहतर साबित हुआ। इंफोसिस की बात करें तो इस साल ज्यादातर उम्मीद से बेहतर वित्तीय नतीजों की वजह से उसने टीसीएस से बेहतर प्रदर्शन किया है।

Stock Tips: Vodafone Idea समेत इन तीन शेयरों के लिए बनाएं रणनीति, ब्रोकरेज फर्मों ने दी ये रेटिंग

एक्सपर्ट की राय

  • स्वास्तिक इन्वेस्टमेंट के शोध प्रमुख संतोष मीणा के मुताबिक, कोरोना के चलते आईटी सेक्टर में तेजी दिख रही है और आने वाले समय को लेकर प्रबंधन भी आश्वस्त है. मीणा के मुताबिक चीन के नए नियमों के चलते चीनी टेक शेयरों से पूंजी भारतीय टेक कंपनियों में लगाई जा सकती है क्योंकि भारत में नीतियों में स्थिरता ज्यादा है। इससे भारतीय आईटी शेयरों में तेजी बनी रहेगी। हालांकि मीणा का मानना ​​है कि आने वाले कारोबारी दिनों में इंफोसिस में कुछ सुधार देखने को मिल सकता है। तकनीकी रूप से 1690-1675 तत्काल मांग वाला क्षेत्र है, जबकि अगर इसमें सुधार होता है तो 1600 पर मजबूत समर्थन मिलेगा। आने वाले कारोबारी दिनों में इसकी कीमतें 1900 रुपये के स्तर को छू सकती हैं।
  • एनालिस्ट्स का मानना ​​है कि डिजिटलाइजेशन बढ़ने, फोकस्ड और सस्टेनेबल मैनेजमेंट और मेगा डील में बढ़ोतरी से वित्तीय वर्ष 2021-2024 में इंफोसिस का रेवेन्यू बढ़ेगा। रिलायंस सिक्योरिटीज के सीनियर रिसर्च एनालिस्ट सुयोग कुलकर्णी के मुताबिक, वित्तीय वर्ष 2024 तक इंफोसिस का मार्केट कैप 11 ट्रिलियन डॉलर के स्तर को पार कर सकता है।
    (अनुच्छेद: सुरभि जैन)
    (कहानी में दी गई स्टॉक सिफारिशें संबंधित शोध विश्लेषकों और ब्रोकरेज फर्मों की हैं। फाइनेंशियल एक्सप्रेस ऑनलाइन इसकी कोई जिम्मेदारी नहीं लेती है। पूंजी बाजार में निवेश जोखिम के अधीन है। कृपया निवेश करने से पहले अपने सलाहकार से परामर्श लें।)
See also  Covid-19: कमरे में 10 मीटर तक जा सकते हैं कोरोना वायरस, मास्क और एसी-पंखे हवा में, जारी हुई नई गाइडलाइंस

पाना व्यापार समाचार हिंदी में, नवीनतम भारत समाचार हिंदी में, और शेयर बाजार पर अन्य ब्रेकिंग न्यूज, निवेश योजना और फाइनेंशियल एक्सप्रेस पर बहुत कुछ। हुमे पसंद कीजिए फेसबुक, हमारा अनुसरण इस पर कीजिये ट्विटर नवीनतम वित्तीय समाचार और शेयर बाजार अपडेट के लिए।