आईसीआईसीआई बैंक यूपीआई आईडी सुविधा को अपने पॉकेट्स डिजिटल पहले बैंक से जोड़ता है ताकि अनूठी सुविधा शुरू की जा सकेनिजी क्षेत्र के बैंक आईसीआईसीआई बैंक ने यूपीआई (यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस) आईडी को अपने डिजिटल वॉलेट पॉकेट से जोड़ने के लिए एक विशेष सुविधा शुरू की है।

आईसीआईसीआई बैंक लिंक यूपीआई आईडी सुविधा: निजी क्षेत्र के बैंक आईसीआईसीआई बैंक ने बुधवार 26 मई को अपने डिजिटल वॉलेट पॉकेट से यूपीआई (यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस) आईडी को जोड़ने के लिए एक विशेष सुविधा शुरू की है। इसके साथ ही UPI ID को सेविंग अकाउंट से लिंक करने की बाध्यता खत्म हो गई है। जो लोग आईसीआईसीआई बैंक के ग्राहक नहीं हैं, उनकी यूपीआई आईडी भी तुरंत तैयार हो जाएगी और यह अपने आप जेब से जुड़ जाएगी। जिनके पास पहले से UPI आईडी है, वे जब जेब में लॉग इन करेंगे तो उनकी नई आईडी तैयार हो जाएगी।
आईसीआईसीआई बैंक ने इस सुविधा को सबसे पहले बैंकिंग उद्योग में पेश किया है और इससे ग्राहक बचत खाते के बजाय अपने वॉलेट बैलेंस के माध्यम से यूपीआई लेनदेन कर सकेंगे। ऐसे में युवा या कॉलेज के छात्र जिनके पास बचत खाते नहीं हैं, वे भी UPI का उपयोग कर सकेंगे।

म्यूचुअल फंड बनाम स्टॉक: 4 कारण आपको स्टॉक के बजाय म्यूचुअल फंड में निवेश क्यों करना चाहिए

UPI से जुड़े पॉकेट के फायदे

  • स्कैन करें और भुगतान करें: उपयोगकर्ता पॉकेट ऐप पर भीम यूपीआई के माध्यम से व्यापारी स्थानों या अन्य स्थानों पर क्यूआर कोड स्कैन करके भुगतान कर सकते हैं।
  • भुगतान: ग्राहक किसी अन्य उपयोगकर्ता या ऐप के माध्यम से भेजे गए संग्रह अनुरोध का भुगतान करने के लिए अपनी पॉकेट यूपीआई आईडी का उपयोग कर सकते हैं। इसके अलावा, वे यूपीआई आईडी और भेजने वाले की वैध राशि भरकर कलेक्ट रिक्वेस्ट बनाकर पैसे प्राप्त कर सकते हैं।
  • कंटैक्स को भुगतान: इस फीचर के जरिए यूजर्स अपने फोन बुक में शामिल कॉन्टैक्ट्स में किसी व्यक्ति को आसानी से पेमेंट कर सकते हैं।
  • मर्चेंट साइट्स पर यूपीआई भुगतान: उपयोगकर्ता किसी भी व्यापारी साइट पर ‘यूपीआई के माध्यम से भुगतान’ का विकल्प चुनकर अपनी पॉकेट यूपीआई आईडी भरकर ऑनलाइन भुगतान कर सकते हैं। आईडी भरने के बाद कलेक्ट रिक्वेस्ट जेनरेट होगी, जिसे पॉकेट एप को स्वीकार कर पूरा किया जा सकता है।
  • मनी ट्रांसफर: ग्राहक पॉकेट यूपीआई आईडी या सविगास खाता विवरण (जिसके साथ पैसा भेजना है) भरकर अपने पॉकेट वॉलेट से बचत खाते या किसी अन्य पॉकेट वॉलेट में आसानी से फंड ट्रांसफर कर सकते हैं।
READ  Maruti Suzuki की कीमतों में बढ़ोतरी: Maruti की कारें अप्रैल से महंगी हो रही हैं, कंपनी ने 3 महीने में दूसरी बार कीमतें बढ़ाईं

इस तरह आप इस सुविधा का उपयोग शुरू कर सकते हैं

  • आईसीआईसीआई बैंक के इस नए फीचर का इस्तेमाल करने के लिए नए यूजर्स को पॉकेट डाउनलोड करके लॉग इन करना होगा। जिनके पास पहले से यह ऐप है, उन्हें इसे अपडेट करना होगा ताकि नए फीचर का इस्तेमाल किया जा सके।
  • लॉगिन करने के बाद एक पॉकेट वीपीए अपने आप बन जाएगा। जैसे कि 9999xxxxxx @ पॉकेट्स, जहां ‘9999xxxxxx’ रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर है। UPI आईडी बनाने के लिए बैंक खाते की जरूरत नहीं होगी।
  • उपयोगकर्ता ऐप में भीम यूपीआई के तहत संशोधित विकल्प के माध्यम से अपनी पसंद के अनुसार यूपीआई आईडी को यूपीआई आईडी में स्वचालित रूप से परिवर्तित कर सकता है।

प्राप्त व्यापार समाचार हिंदी में, नवीनतम भारत समाचार हिंदी में, और शेयर बाजार पर अन्य ब्रेकिंग न्यूज, निवेश योजना और बहुत कुछ फाइनेंशियल एक्सप्रेस हिंदी पर। हुमे पसंद कीजिए फेसबुक, पर हमें का पालन करें ट्विटर नवीनतम वित्तीय समाचार और शेयर बाजार अपडेट के लिए।