शुक्रवार 9 जुलाई को बंद हुए दोनों कंपनियों के आईपीओ को निवेशकों का जबरदस्त सपोर्ट मिला है.

स्वच्छ विज्ञान और जीआर इंफ्राप्रोजेक्ट्स के आईपीओ बंद: शुक्रवार को बंद हुए दो बड़े आईपीओ को निवेशकों का जबरदस्त रिस्पॉन्स मिला है। ये दो आईपीओ क्लीन साइंस एंड टेक्नोलॉजी और जीआर इंफ्राप्रोजेक्ट्स के हैं। हुह। दोनों कंपनियों के आईपीओ में सब्सक्रिप्शन 7 से 9 जुलाई 2021 तक खुला था। क्लीन साइंस के आईपीओ को निवेशकों ने 93.41 गुना सब्सक्राइब किया है, जबकि जीआर इंफ्राप्रोजेक्ट्स के आईपीओ को इससे भी ज्यादा 102.58 गुना सब्सक्राइब किया गया है। यह जानकारी बीएसई पर उपलब्ध आंकड़ों से मिली है।

क्लीन साइंस के आईपीओ को कुल 114.92 करोड़ शेयरों के लिए आवेदन मिले थे, जबकि इसके इश्यू का आकार केवल 1.23 करोड़ शेयरों का था। इसमें भी क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल बायर्स (क्यूआईबी) के शेयर 156.37 गुना सब्सक्राइब हुए हैं, जबकि गैर-संस्थागत निवेशकों के शेयर 206.43 गुना सब्सक्राइब हुए हैं। रिटेल इंडिविजुअल इन्वेस्टर्स (RII) ने भी इश्यू को 9 गुना सब्सक्राइब किया है। इस स्पेशलिटी केमिकल फर्म के आईपीओ का कुल इश्यू साइज 1,546.6 करोड़ रुपये है, जो 7 जुलाई को खुला और 9 जुलाई 2021 को शाम 5 बजे बंद हुआ। कंपनी के शेयरों के लिए 880 से 900 रुपये प्रति शेयर का प्राइस बैंड तय किया गया था। आईपीओ से पहले क्लीन साइंस ने 41 एंकर निवेशकों से 900 रुपये प्रति शेयर के भाव से करीब 464 करोड़ रुपये जुटाए थे।

जीआर इंफ्राप्रोजेक्ट्स के आईपीओ को भी अच्छा रिस्पॉन्स मिला

जीआर इंफ्राप्रोजेक्ट्स की बात करें तो इस इंफ्रास्ट्रक्चर कंपनी को आईपीओ के तहत कुल 83.33 करोड़ शेयरों के लिए आवेदन मिले थे, जबकि इसका कुल इश्यू साइज सिर्फ 81.23 लाख शेयर था। स्टॉक एक्सचेंज के आंकड़ों के अनुसार, क्यूआईबी के लिए रखे गए शेयरों को 168.58 गुना अभिदान मिला, जबकि गैर-संस्थागत निवेशकों को 238.04 गुना अभिदान मिला। RII यानी रिटेल इंडिविजुअल इन्वेस्टर्स ने भी इसे 12.57 गुना सब्सक्राइब किया। कंपनी द्वारा अपने कर्मचारियों के लिए रखे गए शेयरों को 1.37 गुना सब्सक्रिप्शन मिला है।

READ  फेडेक्स एक्सप्रेस आईपीओ के लिए दिल्ली के हर लॉजिस्टिक प्लेटफॉर्म में 750 करोड़ रुपये का निवेश करेगी

जीआर इंफ्राप्रोजेक्ट्स का 963 करोड़ रुपये का आईपीओ भी 7 जुलाई को खुला और शुक्रवार को ही बंद हो गया। कंपनी के शेयरों का प्राइस बैंड 828 रुपये से 837 रुपये प्रति शेयर तय किया गया था। उदयपुर की इस कंपनी ने आईपीओ लाने से पहले 47 एंकर निवेशकों से 837 रुपये प्रति शेयर के भाव से 283 करोड़ रुपये जुटाए हैं।

दोनों आईपीओ में शेयरों का आवंटन कब होगा?

दोनों आईपीओ में अब निवेशकों को शेयरों के आवंटन का इंतजार रहेगा। दोनों कंपनियों के रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस में दी गई जानकारी के मुताबिक आवंटन के आधार को अंतिम रूप देने का काम 14 जुलाई 2021 को पूरा होने की उम्मीद है.

प्राप्त व्यापार समाचार हिंदी में, नवीनतम भारत समाचार हिंदी में, और शेयर बाजार पर अन्य ब्रेकिंग न्यूज, निवेश योजना और फाइनेंशियल एक्सप्रेस पर बहुत कुछ। हुमे पसंद कीजिए फेसबुक, पर हमें का पालन करें ट्विटर नवीनतम वित्तीय समाचार और शेयर बाजार अपडेट के लिए।