आईटी पोर्टल में तकनीकी खराबी पर इन्फोसिस का कहना है कि उसे इस सप्ताह के दौरान स्थिर होने की उम्मीद हैआईटी कंपनी इंफोसिस ने कहा है कि उसे उम्मीद है कि इस हफ्ते सिस्टम स्थायी हो जाएगा।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आयकर विभाग की नई ई-फाइलिंग वेबसाइट पर तकनीकी दिक्कतों को लेकर ट्वीट किया था और इसमें इंफोसिस कंपनी और नंदन नीलेकणि को टैग किया था। अब आईटी कंपनी इंफोसिस ने कहा है कि उसे उम्मीद है कि इसी हफ्ते सिस्टम स्थायी हो जाएगा।

सीतारमण ने मंगलवार को इंफोसिस और उसके अध्यक्ष नंदन नीलेकणि को आयकर विभाग की नई ई-फाइलिंग वेबसाइट में आने वाली तकनीकी समस्याओं को ठीक करने के लिए कहा। यूजर्स ने अपने ट्विटर टाइमलाइन पर शिकायतें डाली थीं।

साल 2019 में इंफोसिस को मिला ठेका

इंफोसिस ने बुधवार को एक ट्वीट में कहा कि उनकी टीम तकनीकी मुद्दों को सुलझाने के लिए आगे बढ़ रही है। उन्हें उम्मीद है कि इस सप्ताह के दौरान सिस्टम स्थिर हो जाएगा। इंफोसिस को नेक्स्ट जेनरेशन इनकम टैक्स फाइलिंग सिस्टम विकसित करने के लिए 2019 में ठेका दिया गया था, जो रिटर्न के लिए प्रोसेसिंग समय को 63 दिनों से घटाकर एक दिन करने और रिफंड तेजी से प्राप्त करने में मदद करेगा। सोमवार शाम को पोर्टल लाइव हो गया।

जब सीतारमण ने मंगलवार सुबह अपने ट्विटर अकाउंट पर नए पोर्टल के लॉन्च की घोषणा की, तो उनकी टाइमलाइन पर यूजर्स की शिकायतों की बाढ़ आ गई। उसने कहा कि वह अपनी टाइमलाइन में शिकायतें और खामियां देख रही है। आशा है कि इंफोसिस और नंदन नीलेकणी सेवा की गुणवत्ता के मामले में हमारे करदाताओं को निराश नहीं करेंगे। इस ट्वीट के जवाब में नीलेकणि ने कहा कि पहले दिन कुछ तकनीकी दिक्कतें सामने आई हैं और इंफोसिस उनके समाधान के लिए काम कर रही है.

Covid वैक्सीन प्राइसिंग: निजी अस्पतालों में वैक्सीन की कीमतों पर उठे सवाल, कांग्रेस ने पूछा, इंपोर्ट से ज्यादा महंगा क्यों है स्वदेशी वैक्सीन?

READ  भारत में 18 जून को लॉन्च होगी Yamaha FZ-X बाइक, जानें संभावित कीमत और स्पेसिफिकेशंस

प्राप्त व्यापार समाचार हिंदी में, नवीनतम भारत समाचार हिंदी में, और शेयर बाजार पर अन्य ब्रेकिंग न्यूज, निवेश योजना और फाइनेंशियल एक्सप्रेस पर बहुत कुछ। हुमे पसंद कीजिए फेसबुक, पर हमें का पालन करें ट्विटर नवीनतम वित्तीय समाचार और शेयर बाजार अपडेट के लिए।